मुजफ्फरपुर हादसे पर बोले तेजस्वी यादव, आरोपी को बचा रहे हैं नीतीश और सुशील मोदी


नई दिल्ली ( 24 फरवरी ):
बिहार के मुजफ्फरपुर में शनिवार को एक अनियंत्रित बोलेरो स्कूल की बिल्ड‍िंग में घुस गई। बोलेरो की चपेट में आने से नौ छात्रों की मौत हो गई। जबकि इस हादसे में 24 छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए। 

तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में घायलों के परिजनों का हाल जानने के बाद नीतीश सरकार को निशाने पर लिया। तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'यह दुर्भाग्यपूर्ण है। हमें बताया गया है कि जिस गाड़ी से हादसा हुआ वह बीजेपी के महासचिव की है। ड्राइवर फरार है और प्रशासन अब तक उसे गिरफ्तार करने में नाकाम साबित हुआ है।' 

तेजस्वी ने साथ ही कहा कि हादसे का शिकार हुए लोगों के रिश्तेदारों का कहना है कि गाड़ी पर बीजेपी का बोर्ड लगा था और इसमें बैठे लोग नशे में थे। तेजस्वी ने राज्य सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा, 'मुख्यमंत्री और सुशील मोदी जी कहीं नजर नहीं आ रहे हैं। दोनों गुनहगारों को बचाने की कोशिश में लगे हैं। गाड़ी के ड्राइवर को शराब कहां से मिली, जब राज्य में शराब पर बैन है?' 

स्कूल में छुट्टी के बाद बच्चे घर जा रहे थे, तभी बेकाबू बोलेरो की चपेट में आ गए। दोपहर करीब 1.45 बजे छुट्टी के बाद स्कूल परिसर में बड़ी संख्या में छात्र जुटे थे। धीरे-धीरे ये छात्र घर लौट रहे थे। कुछ छात्र अपने परिजनों का इंतजार कर रहे थे। इस हादसे में घायल तीन बच्चों की गालत गंभीर बनी हुई है। 

उधर, घटना की सूचना पाकर मृतकों और घायलों के परिजन स्कूल में इकट्ठा हो गए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मृतकों के परिवार वालों को 4-4 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है।