बुलेट ट्रेन की तरफ भारत का एक और कदम, पटरी पर दौड़ी पहली तेजस ट्रेन

मुंबई (22 मई): भारत ने आज बुलेट ट्रेन की तरफ एक और कदम बढ़ा दिया है। देश की सबसे आधुनिक और बहुप्रतिक्षित ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने मुंबई में हरी झंडी दिखाकर गोवा के लिए रवाना किया। 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली ये ट्रेन भारत के इतिहास में सबसे अलग है। इस ट्रेन में वो तमाम सुविधाएं मौजूद है जो एक हवाई जहाज में होती है।

फ्लाइट के किराए की तरह ट्रेन के एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 2740 रुपए रखा गया है। यह 200 किमी तक की रफ्तार पर चलने में सक्षम है, परंतु ट्रैक इस लायक न होने से फिलहाल 160 किमी की रफ्तार पर ही चलेगी। ये ट्रेन साढ़े 8 घंटे में मुंबई से गोवा पहुंचेगी।

- 24 मई से यह ट्रेन सप्ताह में 5 बार चलेगी।

- इस ट्रेन में एक कोच एग्जीक्यूटिव क्लास (कुल 56 सीट) का और 12 कोच एसी चेयरकार (कुल 936 सीट) के हैं।

- यात्रा समय के लिहाज से तेजस एक्सप्रेस मुंबई से करमाली 8 घंटे, 30 मिनट में पहुंचेगी, जबकि जन शताब्दी एक्सप्रेस दादर से करमाली 8 घंटे, 40 मिनट में पहुंचाती है।

- सप्ताह में सात दिन चलने वाली जन शताब्दी एक्सप्रेस दादर से सुबह 5.25 बजे रवाना होती है, जबकि तेजस एक्सप्रेस सुबह 5 बजे रवाना होगी।

- जन शताब्दी में एसी चेयरकार का किराया 940 रुपये है, जबकि तेजस एक्सप्रेस की एसी चेयरकार श्रेणी में बिना कैटरिंग सर्विस के टिकट के लिए 1175 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।

- सप्ताह में तीन दिन चलने वाली एलटीटी-मडगांव डबल डेकर ट्रेन भी सुबह 5.33 बजे रवाना होती है।

- तेजस एक्सप्रेस डबल डेकर एसी के मुकाबले 2 घंटे 7 मिनट कम समय लेगी, लेकिन इसके लिए एसी चेयरकार श्रेणी का टिकट 370 रुपये ज्यादा महंगा पड़ेगा।