Blog single photo

सुषमा स्वराज ने तेहरान के उपविदेश मंत्री अरागची से की मुलाकात, आतंकवाद पर चर्चा

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुई आतंकवादी घटना के बाद ईरान और भारत ने साथ मिलकर पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा संदेश जारी किया है। सुषमा स्वराज अपने तीन देशों के दौरे पर बुल्गारिया जाते वक्त शनिवार को थो

                                                                       Image Source: Twitter

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (17 फरवरी): जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुई आतंकवादी घटना के बाद ईरान और भारत ने साथ मिलकर पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा संदेश जारी किया है। सुषमा स्वराज अपने तीन देशों के दौरे पर बुल्गारिया जाते वक्त शनिवार को थोड़ी देर के लिए ईरान में रुकी थीं, जहां उन्होंने ईरान के उप विदेश मंत्री सैयद अब्बास अरागची से मुलाकात की है। 

अरागची ने ट्वीट किया, 'पिछले कुछ दिनों में भारत और पाकिस्तान आतंकवादी घटनाओं के शिकार रहे हैं। हम और भारत एक दूसरे के साथ आतंकवाद को खत्म करने के लिए सहयोग पर सहमत हुए हैं।'

गुरुवार को जहां भारत में पुलवामा की आतंकवादी घटना में 40 सीआरपीएफ जवानों की जानें गईं, वहीं ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने आरोप लगाया कि बुधवार को ईरान में हुई आतंकवादी घटना में पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन का हाथ था।  ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर मेजर जनरल मोहम्मद अली जाफरी ने जिहादी ग्रुप जैश-अल-अद्ल की ओर इशारा करते हुए पाकिस्तानी सेना और आईएसआई पर आरोप लगाया कि 'शरण देना और चुप रहना' आतंकवादियों का समर्थन करने जैसा है। 

बता दें कि जैश अल-अदल का गठन 2012 में सुन्नी चरमपंथी समूह जुंडला के उत्तराधिकारी के रूप में किया गया था। उन्होंने 2010 में अपने नेता अब्दोल्मलेक रिगी के कब्जा करने और निष्पादन से गंभीर रूप से कमजोर होने से पहले एक दशक तक घातक विद्रोह किया था। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ऐसे समय में ईरान में रुकी हैं जब ईरान के विरोधी सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान पाकिस्तान जाने वाले हैं। पाकिस्तान के बाद प्रिंस बिन सलमान भारत आएंगे, जहां वह पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे।

Tags :

NEXT STORY
Top