सीएम अखिलेश ने दिया था वीरता पुरस्कार, अब वही लड़की मांग रही है मदद

नई दिल्ली(7 सितंबर): 15 साल की नाजिया जिसको इस साल मार्च में सीएम अखिलेश यादव ने रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से नवाजा था, अब वही लड़की सीएम से मदद की गुहार लगाई है। नाजिया ने पिछले साल अगस्त में 6 साल की एक हिंदू लड़की को अपहरणकर्ताओं के चंगूल से छुड़ाया था।

- नाजिए ने अब सीएम को कई ट्वीट किए हैं। जुलाई महीने में नाजिया ने पुलिस में कुछ बदमाशों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। ये बदमाशों का समूह नाजिया के आगरा स्थित घर मंटोला में काम करता । 

- लड़की ने स्थानीय पुलिसवालों पर गंभीर लगाए हैं। सीएम को किए कई ट्वीट में उसने याद दिलाया कि कैसे उन्होंने अपराध का विरोध करने के लिए उसको प्रोत्साहित किया था, लेकिन अब बदमाशों के खिलाफ शिकायत करने की मेहनत उसकी बेकार जा रही है, जिससे वह उत्पीड़न का शिकार हो रही है।  

- एक और ट्वीट में नाजिया ने लिखा कि पुलिस और बदमाश दोनों उसे परेशान कर रहे हैं और उसको बदनाम कर रहे हैं। उसने बताया कि हालांकि पुलिस ने बदमाशों के खिलाफ केस तो दर्ज किया है, लेकिन अभी तक उनको गिरफ्तार करने में असफल रही।

- नाजिया ने कहा कि उनका परिवार डर में जी रहा है। एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक नाजिया की शिकायत पर धारा 323 , 354 के तहत 13 जुलाई को बदमाशों के खिलाफ शिकाय़त दर्ज की गई।