बच्चे की हत्या करने वाले नाबालिग प्रेमी-प्रेमिका ने फिर की हत्या

नई दिल्ली (5 फरवरी): हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर बाल सुधार गृह में भेजे गए नाबालिग जोड़े ने वहां से छूटने के बाद एक और हत्या को अंजाम दिया है। 17 साल के इस नाबालिग ने एक बुजुर्ग महिला की कथित तौर पर हत्या कर दी, इसके बाद पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया है।

इससे पहले इस नाबालिग ने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मिलकर सितम्बर, 2015 में अपने ही डांस ग्रुप के एक 13 साल के बच्चे स्वप्नेश का अपहरण किया और उत्तराखंड ले जाकर बेल्ट से गला घोंट कर मार दिया था। इसके बाद उसे सुधार गृह भेज दिया गया था। वहां से अपने अच्छे बर्ताव के कारण उसे छुट्टी तो मिल गई लेकिन पैसे की लालच में उसने फिर कथित तौर पर एक कत्ल को अंजाम दिया और सलाखों के पीछे पहुंच गया।

नाबालिग पर दक्षिणी दिल्ली की बीके दत्त कॉलोनी में 65 साल की विधवा महिला के मर्डर का आरोप है। सोमवार को इस महिला का शव मिला। इसके बाद हुई जांच में पता चला कि इन्हीं दोनों ने महिला की गला घोंट कर हत्या की और शव को बेड पर इस तरह रखा की नेचुरल डेथ लगे। दोनों ने कत्ल के बाद घर से तमाम ज्वेलरी और दो मोबाइल फोन लेकर फरार हो गए। लेकिन मोबाइल फोन ऑन करने पर ट्रेस हो गए और पकड़े गए।

अब चलेगा मुकदमा, हो सकती है सजा उसपर जुवेनाइल जस्टिस के संशोधित कानून के तहत मुकदमा चल सकता है। हाल ही में केंद्र सरकार ने जुवेनाइल जस्टिस कानून में बदलाव कर जघन्य अपराध के मामलों में शामिल 16 से 18 साल के बीच की उम्र वाले नाबालिगों पर व्यस्क कानून के तहत मुकदमा चलाए जाने का प्रावधान किया था। संभावित तौर पर यह पहला नाबालिग होगा जिसपर इन संशोधित कानूनों के मुताबिक मामला दर्ज होगा। 

नाबालिग टीवी पर आने वाले एक लोकप्रिय डांस शो में प्रवेश पाना चाहता था। इसी के लिए वो पैसे का इंतजाम कर रहा था। पुलिस के अनुसार टीवी के इस कार्यक्रम के प्रति उसकी चाहत के कारण उसने हत्या करने का प्लान बनाया।