जानिए, कौन हैं 'ट्रम्प कॉर्ड' को आयोवा में बेकार करने वाले टेड क्रूज़?

नई दिल्ली (2 फरवरी): अमेरिकी सीनेटर टेड क्रूज़ ने राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से उम्मीदवारी की दौड़ में डोनाल्ड ट्रंप को आयोवा में हराकर जीत हासिल कर ली है। आयोवा में क्रूज़ की जीत के साथ उनके समर्थकों में उत्साह का माहौल है। यह संभावित तौर पर तीन लोगों के बीच में हुई प्रतियोगिता रही, जिसमें सांसद मार्को रूबियो का भी शुमार था। 

ब्रिटिश अखबार 'द इंडिपेंडेंट' की रिपोर्ट के मुताबिक, क्रूज को 28 फीसदी वोट हासिल हुए जो ट्रंप से चार प्वाइंट्स और रूबियो की तुलना में 5 प्वाइंट्स ज्यादा रहे। इन नतीजों को अरबपति ट्रंप की विवादित कैंपेन को निशाना बनाए जाने के तौर पर देखा जा रहा है। आइए जानते हैं कौन हैं टेड क्रूज़ जिन्होंने डोनाल्ड ट्रंप की आक्रामक कैंपेन के बाद भी उन्हें इस दौड़ में पछाड़ दिया है। 

कौन हैं टेड क्रूज?

कनाडा के कैलगरी में 1970 को जन्मे क्रूज टेक्सास में अपनी मां के साथ पले बड़े। उनकी मां एलिएनर क्रूज एक कम्प्यूटर प्रोग्रामर थीं और पिता एक क्यूबन रिफ्यूजी थे। जो अपने गृह देश में जेल काटने और प्रताड़ित होने के बाद अमेरिका चले आए थे। क्रूज ने यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास में दाखिला लिया। इसके बाद ऑइल ड्रिलिंग के लिए एक सीसमिक डेटा फर्म की शुरुआत की। एल्डर मिस्टर क्रूज अब डालास में एक ईसाई पादरी हैं।

उनके बेटे टेड क्रूज़ ने प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में पब्लिक पॉलिसी की पढ़ाई करने से पहले दो प्राइवेट हाईस्कूल्स में दाखिला लिया। जहां उन्होंने वाद-विवाद में कई अवार्ड्स जीते। इसके बाद वह हार्वर्ड में कानून की पढ़ाई करने के लिए चले गए। मिस्टर क्रूज ने लीगल करियर की शुरुआत की। साथ ही नेशनल राइफल एसोसिएशन का भी प्रतिनिधित्व किया। जिसने राष्ट्रपति बिल क्लिंटन पर 1990 के दशक में महाभियोग लगाने की कोशिशें की। क्रूज विवाहित हैं और उनकी दो बेटियां हैं।

करियर 

क्रूज व्यापक रूप से 1999 में जॉर्ज डब्ल्यू बुश की प्रेसीडेंसियस कैंपेन में घरेलू नीति सलाहकार के तौर पर राजनीति में शामिल हो गए। उन्होंने फ्लोरिडा में वोटों की फिर से गिनती किए जाने के दौरान उनके कानूनी मामलों में भी मदद की। राष्ट्रपति बुश के कार्यभार संभालने के बाद उन्होंने एसोसिएट डेप्यूटी अटॉर्नी जनरल के पद पर भी अपनी सेवाएं दीं। इसके बाद 2003 में वह टेक्सास में सॉलिसिटर जनरल भी नियुक्त किए गए।

राजनीति में बड़े काम

क्रूज को साल 2012 में टेक्सास में रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से सांसद चुना गया। उन्हें सारा पैलिन और दूसरे महत्वपूर्ण दक्षिण पंथी नेताओं का समर्थन मिला। इस पद पर रहने के दौरान उन्होंने 25 बिल्स को स्पॉन्सर किया। इनमें से एक अमेरिकी नागरिकों को मारने के लिए ड्रोन्स के इस्तेमाल पर प्रतिबंध के प्रयास के लिए था। जिससे गैरकानूनी तौर पर हथियार खरीदने वाले अपराधियों को खत्म किया जाना था। 

क्रूज ने बराक ओबामा के खिलाफ काफी ज्वलंत बयान दिए। जिसमें उन्होंने ओबामा प्रशासन को "चरमपंथी इस्लामी आतंकवाद के लिए दुनिया का सबसे बड़ा वित्तपोषक भी कहा।" उन्होंने ईरान के साथ न्यूक्लियर डील होने के बाद ऐसा कहा। हालांकि, ओबामा ने इन आरोपों को 'अपमानजनक' कहा। उन्होंने इस साल राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल होने की मंशा की घोषणा साल 2013 में ही की थी।