बच्चों को मोबाइल-टीवी से रखे दूर, आपको डरा सकती है यह हकीकत

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (11 दिसंबर): अगर आप भी अपने बच्चों को मोबाइल या टीवी ज्यादा देखने देते हैं तो यह आपको जानना बहुत ही जरूरी है, क्योंकि हाल ही में आई रिसर्च के अनुसार, बच्चों का लगातार टीवी देखना या पर खेलना उनके दिमाग को नुकसान पहुंचा सकता है। नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ द्वारा फंडेड करीब 300 मिलियन डॉलर यानी 21 अरब रुपये की मदद से हो रही एक स्टडी में यह बात सामने आई है।

जानकारी के मुताबिक, इस स्टडी के अंतर्गत वैज्ञानिक 9 से 10 साल के करीब 11,000 बच्चों पर दस साल तक स्टडी कर यह जानने की कोशिश करेंगे कि बचपन के अनुभव बच्चों के इमोशनल और मेंटल हेल्थ पर कैसे असर डालते हैं। इस स्टडी से जुड़े शुरुआती डेटा में यह सामने आया है कि टेक स्क्रीन्स यंग जेनरेशन में बदलाव ला रही है और यह बदलाव अच्छा नहीं है।

4,500 बच्चों के ब्रेन स्कैन्स में यह देखा गया कि सात घंटों से ज्यादा टीवी, मोबाइल आदी जैसे टेक स्क्रीन्स पर देखते रहने की वजह से उनकी ब्रेन कॉर्टेक्स पतली होने लगी है। ब्रेन की यह बाहरी लेयर फिजिकल वर्ल्ड से जुड़ी जानकारी को प्रोसेस करने में मदद करती है। एनआईएच स्टडी डायरेक्टर गया डाउलिंग ने इस रिपोर्ट के आधार पर कहा कि अभी इस बात की पुष्टि  नहीं है कि यह बदलाव सिर्फ स्क्रीन के कारण ही है या नहीं और यह कितना बुरा है।

सीबीएस नेटवर्क के जरिए उपलब्ध करवाई गई जानकारी के अनुसार, 'एक समय तक ब्रेन के इन बदलावों को फॉलो किए बगैर जो नतीजे हमारे सामने आए हैं उसके पीछे की सही वजह सामने नहीं आ सकती है।' ऐडलेसंट ब्रेन कॉग्निटिव डिवेलपमेंट (ABCD) नाम की एक शुरुआती स्टडी के अनुसार वह बच्चे जो रोजाना टेक स्क्रीन के करीब दो घंटे तक संपर्क में रहते हैं उन्होंने विचार और भाषा संबंधी टेस्ट में दूसरे बच्चों के मुकाबले कम स्कोर किया। माना जा रहा है कि स्टडी से जुड़ा मेजर डेटा साल 2019 के शुरुआती महीनों में रिलीज किया जाएगा