सबजार के मारे जाने के बाद रियाज नाइको बना हिजबुल का नया कमांडर

नई दिल्ली ( 29 मई ): दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में शनिवार को सुरक्षाबलों ने हिजबुल के टाॅप कमांडर सबजार बट को मार गिराया जिसके बाद हिजबुल मुजाहिदीन ने घाटी का अपना नया कमांडर चुन लिया है। 29 साल का रियाज नाइको हिजबुल का नया कमांडर बना है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रियाज नाइको सोशल मीडिया के इस्तेमाल में माहिर है और टेक सेवी है। उस पर 12 लाख रुपये का इनाम है।

वह खतरनाक आतंकियों की सूची में शामिल है, सुरक्षाबलों ने उसे A++ कैटगरी में रखा हुआ है। कुछ महीने पहल वह एक वीडियो जारी करके चर्चा में आया था, जिसमें उसने कश्मीरी पंडितों को घाटी में लौटने की अपील की थी। उसने कहा था कि आतंकियों की कश्मीरी पंडितों से कोई दुश्मनी नहीं है।

खबरों के मुताबिक हिजबुल रियाज को अपना कमांडर बनाकर जाकिर मूसा के प्रभाव को कम करना चाहता है। कट्टरवादी विचार धारा के कारण मूसा का प्रभाव कश्मीर में बढ़ रहा है ऐसे में उदारवादी विचारों वाले रियाज को अपना कमांडर बनाकर हिजबुल यह बताना चाहता है कि उसका मसकद घाटी में इस्लामिक शासन के प्रभुत्व की स्थापना नहीं है।

गौरतलब है कि मूसा ने अलगाववादियों को उनके मामले में दखल न देने की धमकी दी थी, वर्ना उनके सिर काटकर श्रीनगर के लाल चौक पर लटका दिए जाएंगे। इस ऐलान के बाद उसने हिजबुल से अपना नाता तोड़ लिया था।

रिपोर्ट के मुताबिक हिजबुल पर पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई का काफी दवाब है, क्योंकि मूसा ने घाटी में इस्लामिक शासन की बात की थी।

बता दें कि हिजबुल कमांडर बुरहान वानी को पिछले साल आठ जुलाई को मुठभेड़ में मारे जाने के बाद मूसा को कमांडर बनाया गया था।