Blog single photo

भारत के 94 फीसदी आईटी गैजुएट नौकरी के लायक नहीं: महिंद्र सीईओ

टेक महिंद्रा के सीईओ सीपी गुरनानी ने कहा कि 94 फीसदी आईटी ग्रैजुएट भारतीय बड़ी आईटी कंपनियों में नौकरी करने के लायक नहीं है। आपको बता दें कि गुरनानी टेक महिंद्रा में अगले स्तर के विकास की नींव रखने जा रहे हैं।

नई दिल्ली (4 जून): टेक महिंद्रा के सीईओ सीपी गुरनानी ने कहा कि 94 फीसदी आईटी ग्रैजुएट भारतीय बड़ी आईटी कंपनियों में नौकरी करने के लायक नहीं है। आपको बता दें कि गुरनानी टेक महिंद्रा में अगले स्तर के विकास की नींव रखने जा रहे हैं।गुरनानी के मुताबिक मैनपावर स्किलिंग और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, ब्लॉकचेन, साइबर सिक्यॉरिटी, मशीन लर्निंग जैसी नई टेक्नॉलजी में प्रवेश करना भारतीय आईटी कंपनियों के लिए बड़ी चुनौती है।उन्हें लगता है कि इन सब बातों को देखते हुए जब नौकरी की बात आती है, तो बड़ी आईटी कंपनियां 94 फीसदी आईटी ग्रैजुएट भारतीयों को इसके लिए योग्य नहीं मानती हैं।गुरनानी ने दिल्ली जैसे शहर का उदाहरण देते हुए कहा कि आज यहां 60 फीसदी नंबर पाने वाला छात्र बीए इंग्लिश में दाखिला नहीं पा सकता, लेकिन वह इंजीनियरिंग में जरूर दाखिला पा जाएगा।मेरा मुद्दा सरल है कि क्या हम बेरोजगारी के लिए लोगों को नहीं बना रहे हैं? उन्होंने आगे कहा कि मौजूदा वक्त में भारतीय आईटी इंडस्ट्री को स्किल की जरुरत है। जो कि दूर-दूर तक नहीं दिखाई देती।

NEXT STORY
Top