भारत से पहले तिब्बत हो गया कैशलेस...!

नई दिल्ली (29 दिसंबर): जहां भारत में नोटबंदी के बाद लगातार कैशलेस इकॉनमी की बात की जा रही है और इसके लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं, वहीं चीनी मीडिया का दावा है कि तिब्बत की अर्थव्यवस्था में कैशलेस और डिजिटल भुगतान आम बात हो गई है। चीनी मीडिया के मुताबिक, तिब्बत के निवासी अब अपने लेन-देन में आमतौर पर डिजिटल भुगतान प्रणाली का उपयोग कर रहे हैं। चीन की न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, तिब्बत में करीब 17 लाख इंटरनेट कनेक्शन वाले फोन हैं जिनसे ऑनलाइन खरीद और भुगतान करना बेहद आसान और आम हो गया है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि तिब्बत में रेस्तरां, हैंडीक्राफ्ट की दुकानें और सिनेमाघरों आदि सभी ऑनलाइन भुगतान स्वीकार करते हैं। तिब्बती गहनों की दुकानों पर क्यू आर कोड के माध्यम से भुगतान भी आसान हो गया है। तिब्बत संचार प्रशासन ब्यूरो के आंकडों के अनुसार, मार्च तक तिब्बत में इंटरनेट उपभोक्ताओं की संख्या 16.39 लाख हो गई है। चीनी ई-भुगतान मंच अलीपे ने भी एक बयान में बताया कि 2015 में तिब्बत से होने वाले करीब 83.3 प्रतिशत भुगतान मोबाइल के माध्यम से ही हुए हैं और इस साल भी इनमें अच्छी खासी वृद्धि देखी गई है।