टीम इंडिया में वापसी को लेकर युवराज ने उठाया ये कदम

नई दिल्ली(23 नवंबर): स्टार बल्लेबाज युवराज सिंह टीम इंडिया में वापसी को लेकर कड़ा अभ्यास कर रहे हैं। युवराज हर बार फिटनेस टेस्ट में फेल हो रहे थे, जिसके चलते उनकी भारतीय टीम में वापसी नहीं हो पा रही है। लेकिन अब यो-यो टेस्ट पास करने के लिए युवराज ने बड़ा कदम उठाते हुए रणजी मैच ना खेलने का फैसला किया आैर वह इस वक्त बैंगलोर की नेशनल क्रिकेट अकादमी में अपनी फिटनेस पर जोर दे रहे हैं।

युवराज का रणजी ट्राॅफी मैच नहीं खेलकर राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में फिटनेस ट्रेनिंग करने का फैसला बीसीसीआई के अधिकारियों के एक वर्ग को पसंद नहीं आ रहा है। युवराज अभी तक पंजाब के पांच में से चार रणजी मैचों में नहीं खेले हैं। वह विदर्भ के खिलाफ सिर्फ एक मैच में खेले हैं जिसमें उन्होंने 20 और 42 रन बनाए हैं। बीसीसीआई के कुछ अधिकारी अब राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में उनकी मौजूदगी पर सवाल उठा रहे हैं क्योंकि उन्होंने अभी किसी तरह की चोट के बारे में नहीं बताया है।

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं है कि युवराज रिहैबिलिटेशन कर रहे हैं लेकिन हमें पता चला है कि वह यो यो टेस्ट पास करने के लिये विशेष फिटनेस ट्रेनिंग कर रहे हैं। लेकिन रणजी ट्राफी छोडऩा अच्छी चीज है या नहीं, इस पर युवराज को फैसला करना होगा। ’’

अधिकारी ने साथ ही कहा, ‘‘हमने सुना है कि युवराज ने पंजाब टीम प्रबंधन को बताया है कि उन्हें भारतीय टीम ने फिटनेस टेस्ट कराने को कहा है जबकि चयनकर्ताओं ने हमेशा ही रणजी ट्राफी के प्रदर्शन पर जोर दिया है। ईशांत शर्मा को देखिये। वह भी भारतीय टीम का हिस्सा हैं लेकिन उन्हें कोलकता टेस्ट से एक दिन पहले ही रिलीज कर दिया ताकि वह महाराष्ट्र के खिलाफ रणजी ट्राफी मैच खेल सकें। ’’ अभी यह स्पष्ट नहीं है कि मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद को इस फैसले में भरोसे में लिया गया है या नहीं जो मैच खेलने को तरजीह देने की वकालत करते हैं।