मुकाबले से पहले टीम इंडिया ने की सीक्रेट ट्रेनिंग...

वैभव भोला, नई दिल्‍ली (11 जनवरी): कंगारुओं के खिलाफ 5 वनडे की सीरीज के आगाज से ठीक पहले ये है टीम इंडिया की सीक्रेट ट्रेनिंग। अगर माही आर्मी की ये सीक्रेट ट्रेनिंग सफल हुई तो फिर भारत की ऑस्ट्रेलिया में जीत पक्की है। इस ट्रेनिंग के बाद अब विराट एंड कंपनी को ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का सामना करने में नहीं आएगी कोई दिक्कत।

चम्मच वाले आकार के डंडे की मदद से भारतीय बल्लेबाजों को शॉट पिच गेंदों का अभ्यास करवाया। ऑस्ट्रेलिया की 22 गज की सभी पट्टियों पर गेंद बहुत ज्यादा बाउंस होती है, जो 2015 वर्ल्ड कप में भी साफ नजर आया था और इन्हीं शॉट पिच गेंदों को खेलने में विराट सरीखे बल्लेबाजों को भी काफी दिक्कत का सामना हुआ था।

इस वनडे और टी-20 सीरीज में टीम इंडिया को शॉट पिच गेंदों को खेलने में दिक्कत ना हो, इसलिए चम्मच के आकार वाले डंडे से भारतीय बल्लेबाजों को लगातार शॉट पिच गेंदे फेंकी जा रही हैं। साथ ही पिच के आकार को भी 22 गज की बजाय 18 गज का कर दिया गया है। इस तरह के अभ्यास से गेंद बल्ले पर तेजी से आएगी और उछाल भी काफी ज्यादा होगा।

प्रैक्टिस में इस तरह की ट्रेनिंग करने से भारतीय बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजों का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाएंगे, जहां वो बाउंस खेलने के आदी हो जाएंगे तो वहीं तेज गेंदों का सामना करने में भी दिक्कत नहीं होगी। वैसे ये कोई पहला मौका नहीं है जब ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया के बल्लेबाज सीक्रेट ट्रेनिंग करते नजर आ रहे हैं। 2015 वर्ल्ड कप में भी टीम इंडिया के बल्लेबाज ने हर मैच से पहले कोई ना कोई सीक्रेट ट्रेनिंग की थी, जिसका फायदा उन्हें वर्ल्ड कप में काफी हुआ था।

अब एक बार फिर दुनिया की सबसे तेज पिच पर होने वाले मैच से ठीक पहले माही आर्मी सीक्रेट ट्रेनिंग में लग गई है। ऑस्ट्रेलिया में अपने खराब रिकॉर्ड को सुधारना है तो फिर ऐसी सीक्रेट ट्रेनिंग बहुत जरूरी है। बस अब देखना ये है कि ये ट्रेनिंग का मैदान पर धोनी ब्रिगेड़ को फायदा होता है या नहीं।