रणजी में ठोक चुका है सबसे तेज शतक, पढिए एक्स्ट्रा टैलेंटेड ऋषभ पंत की कहानी

नई दिल्ली(7 जनवरी): इंग्लैंड के खिलाफ होने वनडे और टी-20 मैचों के लिए शुक्रवार को टीम इंडिया का ऐलान हुआ। टी-20 टीम में 19 साल के ऋषभ पंत को पहली बार जगह मिली।

खास बात यह है कि वह इस समय मुंबई में ही डीवाई पाटिल स्टेडियम में टी 20 मैच खेल रहे हैं जबकि उनके सोनेट क्लब के कोच तारक सिन्हा जयपुर में ही हैं।

- ऋषभ के कोच के मुताबिक एक समय वो भी था जब वह क्रिकेट के लिए गुरुद्वारे में ठहरा करता था। और रुड़की से आया-जाया करता था।

- ऋषभ ने रणजी में 81 के एवरेज और 94 के स्ट्राइक रेट से 972 रन बनाए हैं।

- फर्स्ट क्लास में सबसे तेज 48 गेंद में शतक बनाया। महाराष्ट्र के खिलाफ 308 रन की पारी भी खेली।

- तारक सिन्हा बताते हैं किवह (ऋषभ) रुड़की में रहता था। हमारे क्लब में शनिवार और रविवार को प्रैक्टिस हुआ करती थी। वह शनिवार रुड़की से आता, प्रैक्टिस करता, रात को गुरुद्वारे में रहता और रविवार को सुबह फिर प्रैक्टिस के लिए पहुंचा जाता और रात को रुड़की वापस चला जाता।

- "क्रिकेट के लिए काफी स्ट्रगल किया है इस बच्चे ने। कई साल तक यह सिलसिला चलता रहा। लेकिन कभी भी परेशान नहीं दिखा।"

- कोच बताते हैं कि इसमें एक एक्स्ट्रा टैलेंट है। वह बॉल को जल्दी जज करता है। जितने अच्छे प्लेयर होते हैं उनमें यह खासियत होती है। साथ ही वह दिल से बहुत मजबत है। मुश्किल परिस्थितियों में भी कभी घबराता नहीं है।

- वनडे और टेस्ट में खेलने पर सिन्हा ने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि वह तीनों फॉरमेट में खेलेगा। वैसे भी जब तक कोई क्रिकेटर टेस्ट मैच नहीं खेलता तब तक कंप्लीट क्रिकेटर नहीं बनता।