28 साल से कीवियों से अपनी धरती पर नहीं हारी टीम इंडिया, ऐसे बन सकती है नंबर वन

नई दिल्ली(21 सितंबर):  भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच गुरुवार से कानपुर में खेला जाएगा। टॉस के साथ ही भारत 500 टेस्ट मैच खेलने वाले देशों की लिस्ट में शामिल हो जाएगा। 

- वहीं, अगर न्यूजीलैंड की बात करें तो टीम इंडिया 28 साल से कीवियों से घर में नहीं हारी है। 

- आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में अभी 110 प्वाइंट्स के साथ दूसरे स्थान पर मौजूद टीम इंडिया किसी भी अंतर से सीरीज जीतने पर नंबर वन बन जाएगी। अभी पाकिस्तान 111 प्वाइंट्स के साथ टॉप पर है। 

- टीम इंडिया के वाइस-कैप्टन अजिंक्य रहाणे ने कहा कि हम किसी को भी हल्के में लेने की गलती नहीं करेंगे।

- राहणे के मुताबिक, ‘हमारी प्लानिंग है कि हम कीवी स्पिनर्स को जमने नहीं देंगे जिससे वो हमपर दबाव न बना पाएं।’

- ‘उम्मीद है कि पिच टर्न करेगा। यही हमारी ताकत है और हम इसी रणनीति के साथ उतरेंगे।’

- टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली के पास इस सीरीज में जीत का चौका लगाने का मौका होगा।

- कप्तान बनने के बाद से वो श्रीलंका, साउथ अफ्रीका और वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीत चुके हैं।

- कीवी कोचने कहा कि ये मुकाबला एकतरफा नहीं बल्कि टक्कर का होगा। स्पिनर्स अहम भूमिका निभाएंगे।

- माइक ने कहा, ‘भारत के साथ ही हमारे पास भी अच्छे स्पिनर हैं। इसलिए मुकाबला बराबरी का होगा।’

- ‘हमारी टीम इंडियन स्पिनर्स के वीडियो देकर रणनीति बना रही है। इंडिया के पास न सिर्फ अच्छे स्पिनर हैं, बल्कि उनके बैट्समैन भी स्पिन को अच्छे से खेलते हैं।’

- माइक ने ये भी संकेत दिए कि पिच को देखते हुए स्पिनर्स को नई बॉल थमाई जा सकती है।

- अनिल कुंबले ने कहा-'' न्यूजीलैंड के दो स्पिनर्स को मैंने टी20 वर्ल्ड कप में खेलते देखा है। टीम की परफॉर्मेंस में उनका अहम रोल था।''

- ''न्यूजीलैंड मजबूत टीम है। ना सिर्फ स्पिन में बल्कि ऑलराउंडर्स में भी।''

- ''उनके पास लेग, ऑफ और लेफ आर्म स्पिन का जबरदस्त कॉम्बिनेशन है''

- ''वहीं, इंडियन पिच भी विदेशी खिलाड़ियों के लिए सरप्राइज नहीं रह गई है।''