पर्थ से शुरू होगा ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया का अग्निपथ

नई दिल्‍ली (11 जनवरी): टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले सीरीज का आगाज होगा पर्थ के मैदान से, जहां इससे पहले 12 बार टीम इंडिया पर्थ के मैदान पर उतर चुकी है। इस 12 मैच में से टीम इंडिया ने 6 में जीत दर्ज की है जबकि 6 में हार का सामना करना पड़ा है।

हालांकि टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में सिर्फ 3 मैच ही खेली है, जिसमें से 1 में जीत और 2 में हार का सामना करना पड़ा है। 2004 के बाद टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ के मैदान पर कोई भी मैच खेलने नहीं उतरी है। पिछले कुछ सालों में पर्थ ने अपना रंग पूरी तरह बदल लिया है। पहले पर्थ के इस मैदान की गिनती दुनिया की सबसे तेज पिचों में होती थी, लेकिन पर्थ की पिचों में अब वो उछाल और रफ्तार नहीं है जिसके लिए पर्थ जाना जाता था। ऐसे में टीम इंडिया के पास मौका है इस बदले बदले पर्थ से कंगारुओं पर प्रहार करने का।

दूसरे प्रैक्टिस मैच में पर्थ की पिच पर इस उड़ती धूल से ये साफ हो गया है कि पर्थ में टीम इंडिया का पलड़ा भारी रहने वाला है। क्योंकि प्रैक्टिस मैच में टीम इंडिया के तीन स्पिनर आर अश्विन-रवींद्र जडेजा और अक्षर पटेल ने वेस्टर्न ऑस्ट्रेलियाई टीम के 6 विकेट अपने नाम किये थे। ऐसे में धोनी सीरीज की शुरुआत जीत के साथ कर सकते हैं। वैसे भी धोनी के पास इतिहास लिखने का सुनहार मौका है, क्योंकि क्रिकेट इतिहास में पहली बार टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोई बाइलेटरल सीरीज यानि कि जिसमें सिर्फ 2 टीमें आमने सामने खेल रही है। इससे पहले टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में जो भी वनडे सीरीज खेली है वो या तो ट्राई सीरीज रही है या फिर 3 से ज्यादा टीमों का टूर्नामेंट।

जाहिर है पर्थ के इस मैदान से एक ऐसी लड़ाई का आगाज होने वाला है, जिसका आने वाले समय में मायने भी होंगे और मतलब भी। क्योंकि ये है ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया का अग्निपथ और इस अग्निपथ पर पहली लड़ाई पर्थ से शुरु हो रही है।