ऑस्ट्रेलिया को परेशान कर सकता है टीम इंडिया का ये फैसला!

नई दिल्ली (4 मार्च): टीम इंडिया के दायें हाथ के ऑफ ब्रेक गेंदबाज जयंत यादव ने पुणे में खेले गए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए थे जबकि ऑस्ट्रेलिया के स्पिनर ओकीफी ने मैच में 12 और नाथन लियोन ने पांच विकेट लिए थे। भारत की तरफ से रविचंद्रन अश्विन ने सात और रवींद्र जडेजा ने पांच विकेट लिए थे। अब उम्मीद लगाई जा रही है कि दूसरे टेस्ट में भारत एक चौंकाने वाला फैसला लेकर ऑस्ट्रेलिया को परेशान कर सकता है। भारतीय कोच ने कहा कि वह अंतिम एकादश में छह बल्लेबाज और पांच गेंदबाज खिलाने के पक्ष में हैं। बेंगलुरु की पिच जिस तरह की दिखाई दे रही है उससे तो यही लगता है कि इसमें बाद में स्पिनरों का बोलबाला होगा।

ऐसे में ऑफ स्पिनर जयंत यादव की जगह चाइनामैन कुलदीप यादव कप्तान विराट कोहली के लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकते हैं। कुलदीप का ये टेस्ट क्रिकेट में आगाज होगा, यानी कंगारू बल्लेबाज उनकी गेंदों का पहली बार सामना करेंगे और कुलदीप भी उन्हें अपनी अनोखी गेंदबाजी से चौंकाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। कुलदीप दुनिया के चुनिंदा चाइनामैन गेंदबाजों में हैं। उन्होंने अभी तक एक भी अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला है। हालांकि वह 22 प्रथम श्रेणी मैचों में 81 विकेट ले चुके हैं। यही नहीं कोलकाता नाइटराइडर्स की तरफ से खेलते हुए उन्होंने आइपीएल में भी खुद को साबित किया है।

अमित मिश्रा के अनफिट होने के कारण उन्हें टीम में जगह मिली है और बायें हाथ से चाइनामैन गेंद फेंकने वाला उत्तर प्रदेश का यह गेंदबाज बेंगलुरु टेस्ट में तीसरे स्पिनर के तौर पर सबसे मुफीद साबित हो सकता है। ऑस्ट्रेलियाई दिग्गजों ने कुलदीप को गेंदबाजी करते हुए कम देखा है। इसके अलावा यह गेंदबाज रन रोकने की जगह विकेट लेने पर ज्यादा ध्यान देता है।उनकी गेंद को समझना बल्लेबाज के लिए इतना आसान भी नहीं होता है। शेन वार्न को अपना आदर्श मानने वाला गेंदबाज उन्हीं की तरह एक्शन के साथ गेंद फेंकता है। दोनों में फर्क इतना है कि वार्न जो काम दायें हाथ से करते थे वह यह बायें हाथ से करता है और इसलिए यह और खतरनाक हो जाता है।