जिंबाब्वे की धरती पर कदम रखते ही धोनी ने बनाया कीर्तिमान!

नई दिल्ली(9 जून):टीम इंडिया वनडे और टी-20 खेलने के लिए जिंबाब्वे पहुंच चुकी है। टीम के हरारे पहुंचने के साथ ही कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी एक कीर्तिमान रच दिया है। उन्होंने बतौर कप्तान जिंबाब्वे में पहली बार कदम रखा है। उन्होंने आखिरी बार टीम इंडिया के साथ 2005 में यहां का दौरा किया था, तब टीम की कमान सौरव गांगुली के हाथों में थी।

धोनी ने  2007 में राहुल द्रविड़ के इस्तीफे के बाद वनडे टीम की कमान संभाली। इसके बाद 2008 में उन्हें अनिल कुंबले के टेस्ट से संन्यास लेने के बाद टेस्ट टीम की कमान भी सौंप दी गई। भारत ने 2005 के बाद से जिम्बाब्वे से यहां पर कोई टेस्ट मैच (सीरीज) नहीं खेला है, जबकि तब से लेकर टीम इंडिया ने सीमित ओवरों की 3 सीरीज यहां पर खेल डाली और हर बार टीम के साथ नया कप्तान भी आया।

2010 में त्रिकोणीय सीरीज के लिए सुरेश रैना को कप्तान बनाया गया तो 2013 में वनडे सीरीज के लिए विराट कोहली और 2015 में सीरीज के लिए अजिंक्य रहाणे को कमान सौंपी गई। रैना की अगुवाई में भारत को त्रिकोणीय सीरीज में हार मिली थी, लेकिन कोहली और रहाणे ने द्वीपक्षीय सीरीज में क्लीन स्वीप कर लिया था। धोनी 11 साल के लंबे अंतराल के बाद जिम्बाब्वे पहुंचे हैं।