UP: चंदौली में रंग लाई 'सेल्फी विद अटेंडेंस', पूरे जिले में होगी लागू

नई दिल्ली ( 16 अप्रैल ): उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के डीएम ने चमत्कारिक परिवर्तन ला दिया है। जिले के डीएम कुमार प्रशांत का चमत्कार है 'सेल्फी विद अटेंडेंस'। नौगढ़ ब्लाक के सभी स्कूलों में पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर लागू किया गया यह प्रयोग सफल हुआ है। इस प्रयोग की सफलता देखकर इसे पहली मई से पूरे जिले में लागू किया जा रहा है। प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद सरकारी मशीनरी में आई तेजी से कदमताल करते हुए चंदौली के युवा कलेक्टर की इस पहल को स्मार्ट कदम कह सकते हैं।


वर्तमान डीएम ने नौगढ़ ब्लाक में अध्यापकों को बच्चों के साथ सेल्फी लेकर अटेंडेंस का प्रमाण देने के लिए 'सेल्फी विद अटेंडेंस' योजना प्रारंभ की। जिन स्कूलों में बच्चे कभी आते ही नहीं थे और अध्यापक भी अक्सर गायब रहते थे, वहां इसका सार्थक असर देखने को मिला है।



जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष कुमार सिंह के अनुसार इस योजना के तहत विद्यालयों में प्रार्थना के समय सभी शिक्षक अपने मोबाइल से बच्चों संग सेल्फी लेते हैं और उसके बाद उसे अपने बीआरसी के वॉट्सऐप पर फोटो भेज देते हैं।


बीआरसी के खंड शिक्षा अधिकारी उसे बीएसए, डीएम और सीडीओ के वॉट्सऐप ग्रुप में सेंड करते हैं। इस तरह विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्थिति और बच्चों की संख्या की प्रतिदिन जानकारी मिल जाती है। यह व्यवस्था इस समय नौगढ़ क्षेत्र के 150 विद्यालयों में लागू की गई है।


'सेल्फी विद अटेंडेंस' की शुरुआत करने वाले चंदौली के डीएम कुमार प्रशांत कहते हैं, यह योजना नौगढ़ इलाके में पूरी तरफ सफल हुई है। सरकारी स्कूलों में पढ़ाई की गुणवत्ता संग उपस्थिति शत-प्रतिशत सुनिश्चित करने के लिए पहली मई से पूरे जिले के सभी प्राइमरी और जूनियर हाई स्कूल में इसको लागू कर दिया जाएगा। इसको लागू करने के लिए 19-20 अप्रैल को जिला स्तर पर एक कार्यशाला का आयोजन प्रधानाचार्यों के लिए किया गया है।