इस कंपनी ने बढ़ाई नोटिस पीरियड की मियाद

नई दिल्ली(21 फरवरी): आईटी क्षेत्र की बड़ी कंपनी टाटा कंसल्टंसी सर्विसेज ने अपने भारतीय कर्मचारियों के लिए नोटिस पीरियड की अवधि बढ़ाकर तीन महीने कर दी है। नया नियम मार्च से लागू हो जाएगा।

टीसीएस के ऐग्जिक्युटिव प्रेजिडेंट और ग्लोबल एचआर हेड अजयेंद्र मुखर्जी ने कंपनी की इंटर्नल साइट पर एक पोस्ट के जरिए बताया कि कंपनी ने नोटिस पीरियड पॉलिसी की समीक्षा की और एंप्लॉयी फीडबैक तथा मौजूदा चलन के मद्देनजर 1 मार्च 2016 से 90 दिनों का नोटिस पीरियड लागू करने का फैसला किया। उन्होंने बताया कि अक्टूबर 2007 तक तीन महीने के नोटिस पीरियड का नियम ही लागू था।

एक अंग्रेजी वेबसाइट के मुताबिक कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि हम कंपनी के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी नहीं किया करते। चूंकि डिजटिल जैसी नई तकनीक में कुशल कर्मचारियों की भारत में अब भी कमी है, इसलिए देश के आईटी सेक्टर में कर्मचारियों का आना-जाना लगा ही रहता है।

टीसीएस ने कहा है कि कर्मचारियों के कंपनी छोड़ने की दर कम करने के लिए वह कदम उठाएगी। इस तिमाही के आखिर में टीसीएस में नौकरी छोड़ने वाले कर्मचारियों का प्रतिशत 15.9 रहा जो पिछले दो सालों के 12-13 प्रतिशत के औसत से ज्यादा है। टीसीएस के पास अभी 3 लाख कर्मचारी हैं जिनमें बड़ी तादाद भारत में काम करने वालों की है।