OBC वोटरों को ऐसे लुभाएगी मोदी सरकार

नई दिल्ली (30 अक्टूबर): मोदी सरकार ने आगामी गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए तैयारी करना शुरू कर दिया है। दोनों ही जगहों पर ओबीसी वोटरों की संख्या को देखते हुए सरकार ने समाज कल्याण की कई योजनाओं को नया कलेवर देने की तैयारी कर दी है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सरकार ओबीसी छात्रों के लिए बढ़िया रहने की जगह के साथ स्कॉलरशिप देने की योजना बना रही है। इसके लिए समाज कल्याण मंत्रालय ओबीसी वर्ग के छात्रों के लिए कुछ नई योजनाएं लाने वाला है। मंत्रालय इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित करने का प्रयास करेगा कि सभी योजनाओं का लाभ जरूरतमंद ओबीसी छात्रों को मिल सके।

मंत्रालय ने इसके लिए नए हॉस्टलों के निर्माण के लिए गाइडलाइंस भी तैयार कर दी है। इस वक्त दोनों राज्यों में ओबीसी छात्रों को मिलने वाली छात्रावास की सुविधा काफी दयनीय हालत में है। सरकारी प्रयासों के बाद भी अभी तक ओबीसी छात्रों के लिए बेहतर सुविधाओं से लैस हॉस्टल का निर्माण नहीं किया जा सका है। पहली बार ऐसा हो रहा है कि मंत्रालय की तरफ से हॉस्टल निर्माण के लिए भवन निर्माण के कुछ मानक पैरामीटर तय किए गए हैं।

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में चुनावों के ठीक पहले गाइडलाइंस सामने आई है। दोनों ही राज्यों में ओबीसी वोटरों की संख्या काफी अधिक है। गुजरात में ओबीसी 40 फीसदी हैं और 182 में से 70 सीटों पर अपनी प्रभावी भूमिका निभा सकते हैं। हिमाचल प्रदेश में भी ओबीसी आबादी 15.3 फीसदी के लगभग है और वोटरों के लिहाज से यह बड़ा आंकड़ा है।