तंजील अहमद के बच्चों ने बताया, कैसे बची उनकी जान...

नई दिल्‍ली (4 अप्रैल): एनआईए अफसर तंजील अहमद की हत्या को दो दिन बीत गए लेकिन अब तक कातिलों का सुराग नहीं मिला है। तंजील अहमद के बच्चों ने इस हत्याकांड के बारे में मीडिया से बात की। बच्चों के मुताबिक जैसे ही कातिलों ने उन्हें पहली गोली मारी तो उन्होंने हमें सीट के नीचे छुपने को कहा और इस वजह से हमारी जान बच गई।

तंजील अहमद के बच्चों ने इस हत्याकांड के बारे में बताया कि कातिलों की संख्या दो थी। तनजीम अहमद को तीन गोलियां मारने के बाद उनकी पिस्तौल जाम हो गई थी लेकिन उन्होने बंदूक में दुबारा गोलियां रीलोड की और फिर ताबड़तोड़ गोलिया चलाते रहे। जब तक पापा की मौत नहीं हो गई तब तक गोली मारते रहे। तंजील की बेटी ने कहा कि वहां कोई आसपास का या पुलिस वाला मदद के लिए नहीं पहुंचा। पीछे से चाचा अपनी कार से आए तब जाकर मम्मी को हॉस्पिटल ले गए।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=eitjMj0YyRI[/embed]