14 साल की दिलेर की होगी सैनिको की कलाई पर राखी

नई दिल्ली ( 4 अगस्त ): वह महज 14 साल की है, लेकिन इरादे सीमा पर खड़े जवान से कम नहीं हैं। बुलंद इरादों के साथ एक बार फिर तिरंगा फहराने श्रीनगर जा रही है 14 साल की अहमदाबाद की तंजीम मेरानी। अहमदाबाद के तुलिप स्कूल की छात्र तंजीम के अंदर देशभक्ति के अंगारे सुलग रहे हैं। यही वजह है कि वह सैनिकों को राखी बांधने और तिरंगा फहराने के इरादे से श्रीनगर के लिए रवाना होने वाली हैं।

तंजीम 15 अगस्त के पहले सात अगस्त को तिरंगा फहराने के इरादे से अहमदाबाद से निकली रही हैं। पिछले साल भी तंजीम झंडा फहराने की चाहत के साथ श्रीनगर निकली थीं, लेकिन श्रीनगर हवाई अड्डे से ही उन्हें और उनके परिवार को वापस भेज दिया गया था, लेकिन इस बार तंजीम के इरादे बेहद बुलंद हैं।

वह एक बार फिर बुलंद इरादों और हौंसलों के साथ श्रीनगर के लाल चौक में तिरंगा फहराने की चाहत में और सैनिकों को राखी बांधने के लिए जा रही हैं। तंजीम सात अगस्त को श्रीनगर में ध्वज फहराएंगी और सैनिकों की कलाई पर राखी बांधेंगी।

तंजीम कहती हैं कि अगर उसे तिरंगा फहराने से रोका गया तो वह भूख हड़ताल पर बैठ जाएगी। स्कूल प्रशासन की ओरे से प्रधानमंत्री कार्यालय को अवगत कराया गया है। तंजीम के पिता का कहना है कि उन्हें झंडा फहराने के लिए किसी की अनुमति लेने की कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि परमिशन उन्हें लेनी चाहिए जो दूसरों के झंडे फहरा रहे हैं, हम तो हमारा झंडा फहराएंगे और राष्ट्र गान गाएंगे। 

तंजीम का कहना है कि हिन्दू मुस्लिम बाद की बात है, तो वह पहले एक भारतीय हैं और एक भारतीय होने के नाते उन्हें जो भी करना चाहिए वह कर रही हैं। इस बार तंजीम को स्वयं सेवी संगठन जय हिंद के महासचिव नवीन जय हिंद का साथ भी मिला है।