आतंक से जंग: साझा सेना बनाएंगे यूरोपीय देश?

नई दिल्ली (27 अगस्त): हाल में लगातार कई आतंकी हमलों से दहलने के बाद अब यूरोपीय देश मिलकर एक बड़ा कदम उठाने जा रहे हैं। यूरोपियन यूनियन (EU) में एक साझा सेना बनाने का विचार जोर पकड़ने लगा है। 

- रिपोर्ट के मुताबिक, यूरोपियन यूनियन के देश बाहरी खतरों का आकलन कर रहे हैं। - आतंकी हमलों को टालने के लिए यूरोपियन यूनियन के देश एक कॉमन आर्मी बनाने पर विचार कर रहे हैं। - हालांकि अभी यह मुद्दा विवादित बना हुआ है। - जर्मन चांसलर अंगेला मर्केल की पोलैंड, हंगरी, स्लोवाकिया और चेक रिपब्लिक के देशों के पीएम के साथ मीटिंग के बाद यह मुद्दा फिर से उठने लगा है। - ब्रिटेन के यूरोपियन यूनियन से बाहर निकलने के बीच मर्केल ने आपस में बेहतर कॉम्युनिकेशन स्थापित करने की बात कही। - इससे इस यूरोपीय देशों की साझा सेना स्थापित किए जाने के कयासों को बल मिला है।  - हंगरी के दक्षिणपंथी प्रधानमंत्री विक्टर ऑर्बन ने भी इस सुझाव का समर्थन किया है।  - हाल ही में एक अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक ऑर्बन ने कहा, 'हमें सुरक्षा के मुद्दे को प्राथमिकता में रखना होगा और हमें कॉमन यूरोपियन आर्मी की स्थापना शुरू करनी होगी।'