'इंसानियत की तरफ तालिबान ने उठाया पहला कदम'

नई दिल्ली (27 फरवरी): क्या तालिबान का ह्रदय परिवर्तन हो रहा है? ऐसा हम नहीं कह रहे हैं लेकिन ऐसा आश्य निकाला जा रहा है तालिबान के एक फरमान से...लगभग चालीस साल के इतिहास में पहली बार तालिबान ने ऐसा फरमान जारी किया है, जो प्रकृति और मानवता के लिए बेहतर माना जा सकता है। 

दरअसल, तालिबान ने अपने लीडर हैबतुल्लाह अखुंदजादा के नाम से  एक खास बयान जारी किया है। जिसमें लोगों से दुनिया की भलाई और धरती को खूबसूरत बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाने की अपील की गई है। तालिबान के रवैये के उलट उसके इस कदम को अनकॉमन (असामान्य) माना जा रहा है। लोगों को इस पर काफी हैरानी हो रही है।

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हैबतुल्लाह अखुंदजादा के नाम से रविवार को जारी बयान में कहा गया है कि हर आदमी एक या कई फलदार या गैर फलदार पौधे लगाकर धरती को सुंदर बनाएं।

- इस तरह सर्वशक्तिमान अल्लाह की रचनाओं का फायदा उठाएं। हैबतुल्लाह ने बंजर देश में पौधे लगाने के लिए कुरान की आयतों का भी हवाला दिया है।