पाक में हुए तालिबानी विस्फोट में अमेरिकी दूतावास के दो कर्मचारियों की मौत

नई दिल्ली (2 मार्च): पाकिस्तान के शहर पेशावर में मादक पदार्थ निरोधी मिशन के दौरान मंगलवार को एक आईईडी विस्फोट हुआ। जिसमें अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के दो स्थानीय कर्मचारी और कुछ सैनिक मारे गए हैं। पाकिस्तानी तालिबान के एक गुट ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, मोहम्मद एजेंसी के पास सड़क किनारे रिमोट कंट्रोल्ड विस्फोट हुआ। जिसमें अमेरिकी मिशन के नारकोटिक्स अफेयर्स सेक्शन (एनएएस) के दो कर्मचारियों की मौत हुई है। अफगानिस्तान स्थित जमातुल अहरार आतंकी समूह ने हमले की जिम्मेदारी ली है। यह गैर-कानूनी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान से अलग होकर बना एक समूह है।

मृतकों की पहचान एनएएस अधिकारी फैसल खान और उनके चालक आबिद शाह के तौर पर हुई है। जबकि चार अन्य जख्मी हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था। बाद में वॉशिंगटन में अमेरिकी विदेशमंत्री जॉन केरी ने दो कर्मचारियों की मौत की खबर की पुष्टि की और हमले की निंदा की।