प्रणब ने दिखाया आरएसएस को आईना: कांग्रेस

नई दिल्ली (08 जून): नागपुर के आरएसएस मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शरीक होने पहुंचे पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने देश की संस्कृति और उसकी पहचान की विशेषता का उल्लेख करते हुए कई बातें कही।

पू्र्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के भाषण से पहले विरोध कर रही कांग्रेस ने अब यू-टर्न मारते हुए उनकी तारीफ शुरू कर दी है।कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पूर्व राष्ट्रपति की तारीफ़ करते हुए कहा कि आज उन्होंने अपने भाषण के ज़रिए आरएसएस को आईना दिखा दिया है। 

कांग्रेस ने कहा, ‘डॉ मुखर्जी ने आज आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होकर देश की चिंता पर बहस के लिए वृहत मंच दे दिया है। इसके साथ ही पूर्व राष्ट्रपति ने संघ को आईना दिखाया है। उन्होंने बहुलतावादी, सहिष्णुता और सांस्कृतिक विविधता के बारे में बात करते हुए संघ को इसके मायने समझाये।’

पूर्व राष्ट्रपति ने अपने भाषण में कहा कि आज देश में गुस्सा बढ़ रहा है। हर दिन हिंसा की ख़बर आ रही है। हिंसा, गुस्सा छोड़कर हम सब शांति के रास्ते पर चलें। उन्होंने कहा- विविधता और टॉलरेंस में ही भारत बसता है। सिर्फ एक धर्म एक भाषा भारत की पहचान नहीं। पचास सालों में यही मैने सीखा है। उन्होंने कहा कि भेदभाव और नफरत करेंगे तो हमारी पहचान को ख़तरा होगा। अलग  भाषा, धर्म और रंग भारत की पहचान है।