चीन को ठेंगा दिखाकर ताईवानी राष्ट्रपति पहुंची अमेरिका

नई दिल्ली (8जनवरी): ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन शनिवार को मध्य अमेरिका के दौरे के लिए रवाना हो चुकी हैं। साई की ओर से ट्रंप को दी गई मुबारकबाद से नाराज चीन उनके इस दौरे पर खास तौर से नजर रखने वाला है। इस नौ दिन केे दौरे का प्रमुख उद्देश्य मध्य अमेरिका में ताइवान के सहयोगी देशों की यात्रा करना है। बीजिंग को प्रमुख संशय साई के इस सप्ताहांत अमेरिका के ह्यूस्टन में और अगले सप्ताहांत फ्रांसिस्को मेें रूकने को लेकर है। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव जीतने के बाद साई ने दिसंबर में उनसे बातचीत की थी। इस बातचीत ने दशकों से चल रहे उस राजनयिक चलन को खत्म कर दिया, जिसके तहत वाशिंगटन बीजिंग की तरफदारी करते हुए ताइवान को नजर अंदाज करता आया है। बीजिंग ताइवान को अपना प्रांत मानता है और उसे वापस अपने साथ मिलाना चाहता है। बीजिंग ने अमेरिका से मांग की है कि वह साई को अमेरिकी हवाई क्षेत्र से यात्रा करने से रोके। ताइवान के राष्ट्रपति कार्यालय ने उनके अमेरिका में रूकने से जुड़ी जानकारी देने से मना कर दिया है। साई होंडुरस, निकारगुआ, ग्वाटेमाला और अल सल्वाडोर का दौरा करेंगी जो कि आधिकारिक रूप से ताइवान को मान्यता देते हैं।