दागी नेताओं के चुनाव लड़ने पर रोक लगाने की तरफ SC का बड़ा कदम

प्रभाकर मिश्रा, नई दिल्ली (1 नवंबर): दागी नेताओं के चुनाव लड़ने पर रोक लगाने वाली याचिका मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से स्पेशल कोर्ट बनाने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने इस बारे में केंद्र सरकार से इसके बनाने के लिए फंड के बारे में भी जानकारी मांगी है।

सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि दागी नेताओं के केस की सुनवाई के लिए स्पेशल कोर्ट बनाया जाए। इसमें कितने फंड की जरूरत होगी सरकार 6 हफ्ते में इस बात की जानकारी भी कोर्ट को दे। इससे पहले चुनाव आयोग ने बुधवार को सुप्रीमकोर्ट में कहा कि सजायाफ्ता जनप्रतिनिधयों के चुनाव लड़ने पर आजीवन रोक लगनी चाहिए। आयोग ने अपनी यह मांग सरकार के सामने भी रखी है।

चुनाव आयोग ने कहा कि वह इस बारे मे कानून संशोधित करने के लिए सरकार को भी लिख चुका है। कोर्ट ने चुनाव आयोग से इस बात का प्रूफ मांगते हुए कहा कि कब लिखा है सरकार को, दिखाओ।

आपको बता दें कि मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में आपराधिक मामलों में सजायाफ्ता जनप्रतिनिधियों के चुनाव लड़ने पर आजीवन रोक की मांग वाली PIL पर सुनवाई के दौरान दाग़ी नेताओं के ख़िलाफ़ लंबित मामलों की जानकारी मांगी गयी थी। कोर्ट ने कहा था, क्या याचिकाकर्ता के पास इसका कोई ब्‍यौरा है।‘