तारक मेहता का निधन, पीएम मोदी ने दी श्रद्धाजंलि

नई दिल्ली (1 मार्च): लोकप्रिय हास्य लेखक तारक मेहता का मंगलवार को 87 साल की उम्र में निधन हो गया। तारक मेहता के निधन की बात सुनकर उनके चाहने वालों में शोक की लहर दौड़ गई। अहमदाबाद में उनका निधन हुआ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तारक मेहता के निधन पर गहरा दुख प्रकट करते हुए ट्विटर पर लिखा कि सुप्रसिद्ध नाटककार और हास्य लेखक तारक मेहता जी को श्रद्धांजलि। उन्होंने जीवन भर व्यंग्य और कलम का साथ नहीं छोड़ा।

पीएम मोदी ने तारक मेहता संग अपनी मुलाकात का जिक्र करते हुए लिखा कि मुझे तारक मेहता जी से कई बार मिलने का सौभाग्य मिला। जब उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया, तब भी उनसे मिलने का अवसर मिला।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने सीरियल तारक मेहता का उलटा चश्‍मा के बारे में लिखा कि तारक मेहता जी के लेखन में भारत की विविधता में एकता की झलक दिखती है। टप्पू समेत कई किरदार लोगों के दिलों में बस गये।'

तारक मेहता को मुख्यतः "दुनिया ने ओंधा चश्मा" नामक गुजराती भाषा में एक लेख लिखने के कारण जाने जाते हैं। वें कई प्रकार के हास्य कहानी आदि का गुजराती में अनुवाद कर चुके है।

2008 में असित कुमार मोदी ने उनके लेख "दुनिया ने ओंधा चश्मा" की कहानी पर तारक मेहता का उल्टा चश्मा बनाया, जो सब टीवी पर प्रसारित होता है। इस कहानी में एक तारक मेहता का भी किरदार लेखक और कॉमेडियन शैलेश लोधा निभा रहे हैं।