मिलिए 'सांड की आंख' की असली शूटर दादी से, 60 साल की उम्र में उठाई थी बंदूक


न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली(14 अप्रैल): बॉलीवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर की फिल्म सांड की आंख लगातार सुर्खियों में बनी हुई है। ये फिल्म एक तरह से बायोपिक फिल्म है। फिल्म में तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर शार्प शूटर वुमन चंद्रो और प्रकाशी तोमर का रोल प्ले करती नजर आने वाली है। हाल ही में तापसी पन्नू ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया जिसमें चंद्रो और प्रकाशी तोमर ने इंटरव्यू दिया है और अपने जीवन के बारे में बताया है। इंटरव्यू वीडियो में चंद्रो और प्रकाशी तोमर ने बताया कि कैसे अपने जीवन के 60 साल उन्होंने घर में ही बिताए थे। बाद में चंद्रो ने शूटिंग करने का फैसला किया। 

























जब चंद्रो ने शूटिंग करने का सोचा तो लोगों ने उनका काफी मजाक उड़ाया पर दोनों ने फैसला कर लिया था कि उन्हें शूटर ही बनना है वो अपने लक्ष्य से पीछे नहीं हटीं। इसके बाद फिर 60 साल की उम्र में स्पोर्ट्स में हाथ आजमाया। वीडियो में चंद्रो ने बताया कि पहले उन्होंने शूटिंग करनी सीखी इसके बाद उनकी सिस्टर इन लॉ, प्रकाशी तोमर ने भी उन्हें ज्वाइन कर लिया था। 


काफी मेहनत के बाद अब दोनों शूटर दादी के नाम से मशहूर हैं। दोनों के खास वीड‍ियो को तापसी पन्नू ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है। दोनों ने उम्र की ढलान पर शूटिंग को अपना करियर बनाया। दोनों तब से अब तक कई सारे अवॉर्ड्स अपने नाम कर चुकी हैं। साथ ही कई  मेडल्स भी अपने नाम कर चुकी हैं।




अब दोनों दूसरी महिलाओं को भी ये स्पोर्ट खेलने के लिए प्रेरित करती हैं और गांव की महिलाओं और युवा लड़कियों के लिए रोजगार की सुविधा उपलब्ध कराती हैं। आपको बता दें कि अपनी बहादुरी और शक्ति की वजह से दोनों दुनियाभर की महिलाओं के लिए एक मिसाल बन गई हैं।  साथ ही वीडियो में ये भी बताया है कि दोनों इंडियाज गॉट टैलेंट और सत्यमेव जयते में भी आ चुकी हैं। फिल्म को अनुराग कश्यप प्रोड्यूस कर रहें हैं। फिल्म से जुड़े हुई फोटो और वीडियो, तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर सोशल मीडिया के जरिए शेयर करती रहती हैं।