पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से चलेगी देश की पहली हाई स्पीड ट्रेन

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, कुन्दन सिंह, नई दिल्ली (6 दिसंबर): पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपयी के जन्मदिन के अवसर पर 25 दिसबंर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को देश की सबसे पहले सेमी हाईस्पीड ट्रेन टी-18 का तोहफा देंगे। ट्रेन टी-18 देश की अबतक की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन होगी, जिसकी औसत स्पीड 180 किलोमीटर प्रतिघंटे की होगी।

यूरोपियन देशों में चलने वाले सेट के कांसेप्ट पर बनी ये ट्रेन पूरी तरह से मेक इन इंडिया है। जिसे चेन्नई के इिंतेरगल कोच फैक्ट्री में बनाया गया है। बिना इंजन की इन ट्रेनों में दोनों तरह ड्राइवर केबिन होता है। जिन्हें दोनों तरफ से चलाया जा सकता है। इन ट्रेनों में मल्टीपल इंजन लगने की वजह से इनका एक्सलेरशन और डीएक्सलेरेशन बहुत जल्दी होता हैं। जिनकी वजह से ये जल्दी ब्रेक लेती है और स्पीड भी जल्दी पकड़ लेती है। नतीजा यह औसत स्पीड ज्यादा निकल पाती है।

इस ट्रेन में शताब्दी ट्रेनों के कांसेप्ट पर सीटिंग अरेंजमेंट है। वही एक्सक्यूटिव क्लास की सीट 360 डिग्री पर घूम सकती है। ऑटोमेटिक डोर, बेहतर इंटीरियर से लेकर बेहतर सेफ्टी फीचर के साथ ये ट्रेन बिल्कुल किसी यूरोपियन ट्रेन के कम नहीं है। दिल्ली में वाराणसी के बीच लगभग पौने 800 किलोमीटर की दूरी ये ट्रेन 7 से 8 घंटे में पूरा करेगी। फिलहाल इस ट्रेन का ट्रायल रन कोटा सेक्शन में अपने अंतिम चरण में है, जिसके बाद इनके डेटा को एनालिसिस करने के बाद कमिश्नर रेलवे सेफ्टी के फाइनल अप्रूवल के लिए भेजा जाएगा।