Exclusive: दुनिया के नक्शे से ग़ायब हो रहा है यह मुल्क...

नई दिल्ली (13 अक्टूबर): कभी इस शहर की गलियों में रौनक थी, यहां ज़िंदगी बसती थी। लेकिन अब यहां फैला सन्नाटा मौत से भी ज़्यादा ख़तरनाक और डरावना है। 2 मुल्कों की जंग में सीरिया का ये बड़ा शहर एलेप्पो तबाह हुआ है। जब पहली बार ड्रोन कैमरे के ज़रिए एलेप्पो की तस्वीरें सामने आईं तो इंसानियत भी शर्मसार हो गई। इस शहर में हज़ारों 3 से 4 मंज़िल की इमारतें थी, बड़ी-बड़ी सड़कें थीं, फ्लाईओवर बने हुए थे, स्ट्रीट लाइट्स लगी हुई थी। लेकिन अब सबकुछ तबाह हो चुका है।

अब सीरिया की ज़मीन क्लस्टर बमों से थर्रा रही है। ज़मीन पर जब बम फटते हैं तो ऐसे गरजते हैं किसी भी इंसान का दिल बैठ जाए। ऐसा शोर, ऐसी आवाज़ें सीरिया के लिए बहुत आम हो गईं हैं। एक तरफ रूस यहां अपने रॉकेट छोड़ रहा है तो दूसरी अमेरिका भी यहां होने वाली अग्निवर्षा के लिए ज़िम्मेदार है। सीरिया की सड़कों पर ऐसे ही टैंक्स बम फोड़ते दिखाई देते हैं। सैकड़ों आतंकी कैंप्स लगे हुए हैं और हर रोज़ ऐसे ही शुरु होता है बारूद का खेल।

सीरिया के राष्ट्रपति बशर असल असद की सेना और विद्रोहियों के बीच हर रोज़ होने वाली ये जंग और भी ज़्यादा खौफनाक होती जा रही है।

सीरिया के बड़े शहरों में कितनों की मौत हुई...

रिफ-दमिश्क- 35 हज़ार मौत होम्स- 18 हज़ार मौत एलेप्पो- 32 हज़ार मौत इदलिब- 17 हज़ार मौत हमा- 10 हज़ार मौत अर-रक्का- 3 हज़ार मौत लताकिया- 2 हज़ार मौत दमिश्क- 10 हज़ार मौत

सीरियी ह्यूमन राइट्स की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 4 लाख 70 हज़ार लोगों की मौत हो चुकी है... - हमलों में 95 हज़ार सीरियाई सैनिक मारे गए हैं - 1 लाख 30 हज़ार आतंकियों की मौत हुई है - 1 लाख से ज़्यादा नागरिक मारे गए हैं - सीरिया में 76 लाख लोगों को घर छोड़कर जाना पड़ा है

आज की तारीख में दुनिया के सबसे प्राचीन मुल्कों में से एक सीरिया श्मशान बनने के कगार पर है और अगर हर रोज़ यहां मौत का मंज़र ऐसे ही पनपता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब ये मुल्क दुनिया के नक्शे से ही गायब हो जाएगा।