दो मुस्लिम छात्राओं को स्विस नागरिकता देने से इनकार, लडकों के साथ तैराकी सीखने से मना किया था

बेसेल (1 जुलाई) : स्विट्जरलैंड ने दो मुस्लिम लड़कियों की ओर से मिले नागरिकता के आवेदन इसलिए ठुकरा दिए क्योंकि उन्होंने स्कूल में लड़कों के साथ तैराकी सीखने से इनकार कर दिया था।

'द इंडिपेंडेंट'  की रिपोर्ट के मुताबिक 12 और 14 साल की इन दोनों लड़कियों की नागरिकता के आवेदनों पर इसलिए विचार नहीं किया जाएगा क्योंकि वो स्कूल के पाठ्यक्रम के मुताबिक नहीं चल रही थीं।  

बेसेल में अधिकारियों ने बताया कि इन लड़कियों ने लड़कों की मौजूदगी में तैराकी के पाठ सीखने से इनकार कर दिया था क्योंकि उनका धर्म इस बात की इजाज़त नहीं देता। यूएसए टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक स्विस पासपोर्ट के लिए दोनों लड़कियों की अर्ज़ी ठुकरा दी गई हैं।

इस बीच, स्विट्जरलैंड के अन्य इलाके में दो अन्य लड़कियों के पिता पर कोर्ट ने 4000 स्विस फ्रैंक्स (करीब 2 लाख 60 हज़ार रुपए) जुर्माना किया गया है। इस शख्स ने भी अपनी लड़कियों को अन्य लड़कों के साथ तैराकी की अनुमति देने से इनकार कर दिया था।

स्विट्जरलैंड की न्यूट्रलाइजेशन कमेटी के अध्यक्ष स्टीफन व्हेर्ले ने कहा कि जो भी शर्तों का पालन नहीं करेगा, कानून का उल्लंघन करेगा, उसे न्यूट्रलाइज्ड नहीं किया जाएगा या नागरिकता नहीं दी जाएगी।

एक स्थानीय अखबार के मुताबिक एल्सटेटेन की कोर्ट ने जिस शख्स पर जुर्माना किया है, उसका नाम पहले भी विवादों में आ चुका है। इस शख्स ने अपनी लड़कियों को स्कूल में हिजाब पहन कर आने की अनुमति देने की मांग की थी