स्वदेशी जागरण मंच ने उठाई 'सॉफ्ट ड्रिंक यूनिट्स' को बंद करने की मांग

नई दिल्ली (5 जून): एक तरफ देश के कई राज्य सूखे और पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं। वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़ी एक संस्था ने मांग की है कि सरकार कोला यूनिट्स को नियंत्रित या बंद करे। संस्था का कहना है कि सॉफ्ट ड्रिंक इंडस्ट्री पानी बर्बाद कर रही है।

'इकॉनॉमिक टाइम्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, स्वदेशी जागरण मंच ने कहा है कि सरकार को पारिस्थितिकी की कीमत पर विकास को बढ़ावा नहीं देना चाहिए। मंच का कहना है कि जीवन का बने रहना तथाकथित विकास से ज्यादा जरूरी है। मंच ने विकास परियोजनाओं के लिए पेड़ों को काटे जाने पर कठोर प्रतिबंध लगाने की भी मांग की है। उनका कहना है कि पारिस्थितिकी में असंतुलन मानव सभ्यता को ही नष्ट कर सकती है।

स्वदेशी जागरण मंच ने राष्ट्रीय समिति की बैठक में एक प्रस्ताव पास किया है। जिसमें कोला यूनिट्स को बंद करने का सुझाव है। साथ ही पानी के टैंक्स और पानी से जुड़ी संस्थाओं को पुनर्जीवित करने पर प्राथमिकता दी गई है।