स्वच्छता के प्रति राज्य उदासीन,जागरूकता पर खर्च किए महज 370 करोड़

नई दिल्ली (7 फरवरी): केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत अभियान के तहत देशभर में ट्वालेट बनाए जा रहे हैं। धीरे-धीरे लोग इसके प्रति जागरुक भी हो रहे हैं। लेकिन शहरी विकास मंत्रालय की एक आंकड़े की माने तो इसके तहत देशभर में ट्वालेट तो जरूर बन रहे हैं, लेकिन राज्य सरकार इसके लेकर उदासीन बनी हुई है। रिपोर्ट के मुताबकि राज्य सरकार ट्वालेट का उपयोग करने के लिए लोगों को जागरुक नहीं कर रही है। 

शहरी विकास मंत्रालय के एक आंकड़े से खुलासा हुआ है कि केंद्र सरकार ने राज्यों को स्वच्छता मिशन के तहत ट्वालेट के उपयोग के प्रति जागरुक करने के लिए 1,800 करोड़ रुपये का आवंटन किया था, जिसमें से अबतक महज 370 करोड़ रुपये ही खर्च हुए हैं। यानी 1,445 करोड़ रुपये अभी भी राज्यों के खाते में ऐसे ही पड़े हुए हैं।