SMS-email का जवाब नहीं देने वालों पर कार्रवाई की तैयारी में आयकर विभाग

नई दिल्ली (17 फरवरी): नोटबंदी के बाद जिन लोगों ने अपने खातों में 5 लाख रुपये से ज्यादा जमा करवाए थे पिछले दिनों इनकम टैक्स ने ऐसे 18 लाख लोगों को SMS और email के जरिए सवाल पूछा था। बताया जा रहा है कि 9 लाख लोगों ने जमा रकम के बारे में आयकर विभाग को जानकारी दिया। जबकि 9 लाख लोगों ने इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को अबतक कोई जवाब नहीं दिया है। अब ऐसे लोगों इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ऐसे लोगों पर कार्रवाई की तैयारी कर रहा है।

वहीं

आयकर विभाग 18 लाख लोगों द्वारा बैंक खातों में 4.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक की संदिग्ध जमाओं का सत्यापन कर रहा है। विभाग उन लोगों को SMS और emailभेजकर जवाब मांग रहा है जिनके खातों में अचानक ज्यादा रकम जमा हुआ है। आयकर विभाग के एसएमएस या ई-मेल से भेजे गए सवालों का जवाब नहीं देने वालों को असंविधिक पत्र (Non Statutoryआयकर विभाग पहली नजर में संदिग्ध नजर आने वाले डिपॉजिट्स पर अकाउंट होल्डर्स को एक लेटर जारी कर स्पष्टीकरण मांगता है, जिसे Non Statutory Letter कहा जाता है। इसका संतोषजनक जवाब नहीं देने वालों पर आयकर विभाग कार्रवाई करता है।