1 जुलाई को रिलीज हो रही है 'शोरगुल', पर UP में सस्पेंस बरकरार

नई दिल्ली (30 जून): फिल्म उड़ता पंजाब की आग बूझी भी नहीं थी कि फिल्म शोरगुल की रिलीज़ पर सवाल उठ रहा है। उत्तर प्रदेश की प्रष्ठभूमि पर बनी पॉलिटिकल ड्रामा फिल्म 'शोरगुल' पर ये शोर यूपी से ही आया है। जिसे लेकर अब फिल्म के मेकर्स बहुत परेशान है।

जी हां, इस बार जिस फिल्म को लेकर शोरगुल मचा है, उसका नाम ही है 'शोरगुल'। जिसकी रिलीज़ पर अब तलवार लटक गई है। पॉलीटिकल मुद्दे पर बनी फिल्म शोरगुल कोन्ट्रोवर्सी में फंस गई है। जिसकी देश के बाकी हिस्सों में तो रिलीज़ एक हफ्ते आगे बढ़ाकर 1 जुलाई कर दी गई है, लेकिन यूपी में फ़िल्म की रिलीज़ डेट को लेकर अब भी सस्पेंस बरकरार है।

न्यूज24 के सहयोगी चैनल ई24 के 'बॉलिवुड रिपोर्टर' के मुताबिक, फिल्म से जुड़े बवाल पर बात करने के लिए ही फिल्म के मेकर्स ने मुम्बई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी। इस प्रेसमीट में उन्होंने अपनी फ़िल्म के समय पर रिलीज न हो पाने और एक पार्टी विशेष के व्यक्ति की तरफ से बढ़ते दबाव और अडचनों के बारे मे बात की। ये साफ है कि इस बार अड़चन सेंसर बोर्ड की तरफ से नहीं, एक पार्टी के एमएलए की तरफ से आई है।

फिल्म की रिलीज डेट को एक हफ्ते के लिए आगे करने की वजह से फिल्म के मेकर्स और एक्टर्स काफी नाराज हैं। उनका मानना हैं कि पॉलिटिकल बेनिफिट के लिए बीजेपी के एमएलए संगीत सोम के अलावा कई और राजनेता फिल्म को यूपी में रिलीज नहीं होने दे रहे। फ़िल्म के दोनों लीड एक्टर्स जिमी शेरगिल और आशुतोष राणा तो यहां नज़र नहीं आए। लेकिन फिल्म के बाकी स्टार्सं में से यहाँ हितेन तेजवानी, एजाज़ खान पहुंचे और प्रोड्यूसर स्वतंत्रय विजय सिंह और क्रिएटिव डायरेक्टर शशी वर्मा मौजूद रहे जिन्होंने मीडिया के सामने अपनी बात रखी।

फिल्म के मेकर्स का मानना हैं की इसकी शूटिंग के चलते कोई प्रॉब्लम नही थी। लेकिन रिलीजिंग को लेकर काफी दिक्कते आ रही हैं। वहीं स्वतंत्रय विजय सिंह का मानना है जिसे भी फिल्म के सब्जेक्ट से प्रॉब्लम हैं वो पहले फिल्म देखें। फिल्म शोरगुल यूपी के बैकड्रॉप पर बेस्ड एक पॉलिटिकल ड्रामा फिल्म है। जिसमें जिम्मी शेरगिल, आशुतोष राणा, संजय सूरी, हितेन तेजवानी लीड रोल में नजर आएंगे।