जर्मनी में हरियाणा की बेटी का वीडियो देख पिघला सुषमा का दिल, बोलीं- की जाएगी मदद

नई दिल्ली (3 फरवरी): जर्मनी के शरणार्थी कैंप में ससुरालवालों के धोखे से हरियाणा की एक बेटी फंसी हुई है। पीड़ित गुरप्रीत ने एक वीडियो के जरिए अपनी पूरी कहानी बयां की है। सोशल साइट्स पर गुरप्रीत का ये वीडियो वायरल हो गया है जिसमें वो भारत सरकार से मदद की अपील कर रही है। वीडियो की जानकारी के बाद गुरप्रीत की मदद के लिए खुद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आगे आईं है।

क्या बोली पीड़िता मेरा नाम गुरप्रीत उर्फ सिंका है। मैं हरियाणा फरीदाबाद की रहने वाली हूं। मेरे ससुराल वालों ने मेरे साथ धोखा किया और जर्मनी ले आए। यहां मुझे शराणार्थियों के शिविर में भेज दिया गया। मेरे साथ मेरी सात साल की बेटी भी है। हम दोनों परेशान हैं। भारत सरकार से हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि मुझे जल्द से जल्द देश बुलाया जाए।

जर्मनी में बैठकर कैमरे के सामने दर्द बयां करनेवाली इस महिला की बातों को सुनकर सब हैरान है। सब सोच में है कि आखिर अपनी बहू के लिए कोई इतना क्रूर कैस हो सकता है। कोई कैसे एक महिला को उसकी सात साल की बेटी के साथ रिफ्यूजी कैंप में छोड़ सकता है। लेकिन ये सच है और ऐसा ही कुछ हुआ है गुरप्रीत के साथ। 

मदद की गुहार करते गुरप्रीत का ये वीडियो वाय़रल हो गया है और अब खुद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज गुरप्रीत की मदद के लिए आगे आई है...सुषमा स्वराज ने ट्विटर के जरिए गुरप्रीत से उसका नंबर मांगा है और ट्वीट कर कहा है कि वे जर्मनी सरकार के संपर्क में हैं । 

गुरप्रीत की मदद के लिए हरियाणा के पंचायती राज मंत्री धनखड़ भी आगे आए हैं। धनखड़ को जब पत्रकारों ने पूरे मामले की जानकारी दी तो उन्होने गुरप्रीत की मदद का भरोसा दिया।

इससे पहले सउदी अरब में फंसे भारतीय मजदूरों का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें करीब 40 मजदूरों ने भारत सरकार से मदद की गुहार लगाई थी और अब जर्मनी में फंसी इस भारतीय महिला का वीडियो सोशल साइट्स पर छाया है। ऐसे में अब देखनेवाली बात होगी आखिर कबतक इस महिला को रिफ्यूजी कैंप से निकाल कर वापस स्वेदश लाया जाता है।

देखिए वीडियो

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=GPfRJqiDZbY[/embed]