भगवान न करे कि ऐसा समय आए जब राहुल गांधी से हमें हिंदुत्व की बात सीखनी पड़े: सुषमा स्वराज



न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (1 दिसंबर): राजस्थान विधानसभा चुनाव प्रचार में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उदयपुर में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी हिंदू की बात करते हैं मगर हिंदुत्व के बारे में नहीं जानते हैं। इसका जवाब देने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज सामने आईं। सुषमा स्वराज ने जयपुर में कहा कि राहुल गांधी के धर्म और जाति को लेकर शुरू से ही कांग्रेस में एक भ्रम की स्थिति बनी हुई है कि वह हैं क्या। पहले जब राजनीति में आए तो उन्हें एक धर्मनिरपेक्ष व्यक्ति के रूप में स्थापित करने की कोशिश की गई।  लेकिन जब वह बात राजनीति फेल हो गई तो नए सिरे से उन्हें हिंदू बना कर पेश किया गया।

नाना नेहरू की जाती जोड़कर बने ब्राह्मण
सुषमा ने आगे कहा क‍ि जब बात नहीं बन पा रही थी तो कांग्रेस ने कहा कि उनके नाना की जाति से उनको जोड़ दिया जाए और उनके नाना नेहरू की जाति से जोड़कर उन्हें ब्राह्मण बता दिया गया। यह तो सुना है कि धर्म परिवर्तन होता है लेकिन जाति का परिवर्तन कभी नहीं होता है। मगर राहुल गांधी ब्राह्मण बन कर भी सफल नहीं हो पा रहे थे तो फिर नए सिरे से सोचा गया और उन्होंने कहा कि मैं जनेऊधारी ब्राह्मण हूं।



हिंदू बनाने की कोशिश की जा रही है
सुषमा ने राहुल के ह‍िंदुत्व के बारे में कहा क‍ि जनेऊधारी ब्राह्मण बनने के लिए उन्हें जगह-जगह मंदिर घुमाया गया।  यहां तक कि शंकर भक्त करार देकर कैलाश मानसरोवर की यात्रा कराई गई लेकिन बहुत ज्यादा सफल नहीं रहे तब जाकर अब उनके नाना के गोत्र को खोज कर लाया गया। उन्हें किसी भी तरह से हिंदू बनाने की कोशिश की जा रही है और इसी सिलसिले में आज उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही हिंदुत्व नहीं समझने की बात कही है। भगवान न करे कि हमारा ऐसा समय आए जब राहुल गांधी से हमें हिंदुत्व की बात सीखनी पड़े।

योगी के हनुमान वाले बयान का किया बचाव
योगी आदित्यनाथ के हनुमान जी की जाति खोजने पर सुषमा स्वराज ने कहा कि मैंने राजस्थान आने से पहले योगी आदित्यनाथ से बात की थी और उन्हें कहा था कि उनकी एक लाइन काट दी गई है जिसमें उन्होंने कहा था कि हनुमान जी सब के तारणहार है,उन्हें गलत तरीके से पेश किया गया है।