'अफ्रीकी युवक की हत्या नस्लीय अपराध नहीं'

नई दिल्ली (31 मई): अफ्रीकी नागरिकों पर हाल में हुए हमलों के बीच एक तरफ सरकार ने मंगलवार को जागरुकता अभियान के साथ कई अन्य उपायों की घोषणा की। वहीं, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि कांगो के युवक की हत्या की घटना 'नस्लीय अपराध' की श्रेणी में नहीं आती।

रिपोर्ट के मुताबिक, सुषमा स्वराज ने कहा, "सरकार कांगो के नागरिक मसोंदा केतडा ओलिवर की हत्या के मामले में फास्ट ट्रैक सुनवाई के साथ दोषियों को कठोरतम संभव सजा दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है।" सुषमा ने ओलिवर की हत्या को 'बर्बर' बताया लेकिन कहा, "यह नस्लीय अपराध का मामला नहीं है। क्योंकि सीसीटीवी फुटेज में दिखा है कि ओलिवर को बचाने की कोशिश करने पर स्थानीय लोगों पर भी हमला किया गया।"

विदेशमंत्री ने कहा, "मंत्रालय देशभर में जागरुकता अभियान चलाएगा क्योंकि इस तरह की घटनाएं देश की छवि के लिए अच्छी नहीं हैं। अफ्रीकी नागरिकों की बड़ी आबादी वाले इलाकों में लोगों को उनके प्रति संवेदनशील बनाने के लिए राज्यों को एक परामर्श भी जारी किया जाएगा।"

सुरक्षा के मुद्दे के मद्देनज़र विदेशमंत्री सुषमा स्वराज, विदेश राज्य मंत्री वी.के. सिंह, विदेश सचिव एस. जयशंकर और दूसरे वरिष्ठ अधिकारी अफ्रीकी राजदूतों और छात्रों से मिले। विदेश मंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया कि सरकार एक "बड़ी रणनीति" पर काम कर रही है। जिसके तहत एक संस्थागत तंत्र का निर्माण किया जाएगा।