दक्षिण अफ्रीका में सुषमा स्वराज ने गांधी और मंडेला को याद किया

नई दिल्ली (7 जून): विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इन दिनों दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर हैं। उन्होंने पीटरमारित्जबर्ग में कहा कि भारत और दक्षिण अफ्रीका समृद्ध संस्कृति और विरासत को साझा करते हैं। इन दोनों ही देशों के संबंध समय की कसौटी पर हमेशा ही खरे उतरे हैं। दोनों ही देश साथ मिलकर आगे बढ़ सकते हैं। सुषमा ने कहा कि कि 25 वर्ष पूर्व नेल्सन मंडेला ने पीटरमारित्जबर्ग में महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया था।उस वक्त मंडेला ने कहा था कि यह उनके लिए सम्मान की बात है कि उनको महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण करने का अवसर मिला है। महात्मा गांधी और नेल्सन मंडेला, दोनों ने हर किसी को उम्मीद दी थी। उन्होंने लोगों को संदेश दिया था कि त्याग, समर्पण, सत्य और मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा कि,''सत्य की अथक तलाश से ही शांति की बुनियाद पड़ी है और हमें इसे नहीं भूलना चाहिए। सत्य और अहिंसा को विभाजित नहीं किया जा सकता है। जब हम दुनिया के कुछ मुल्कों में अशांति देखते है तो हम हमेशा पाते हैं कि सबसे पहला शिकार सत्य हुआ है।