VIDEO: सुषमा के बयान पर उठे सवाल, नहीं मिले इराक में गायब हुए भारतीय


नई दिल्ली (22 जुलाई): 39 अपह्रत भारतीय नागरिक इराक के बादुश के जेल में भी नहीं है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने रविवार 16 जुलाई को कहा था कि इराक में 2014 में लापता हुए 39 भारतीय नागरिको की बादुश जेल में कैद होने की बात कही थी।

सुषमा ने कहा था कि 39 भारतीय नागरिक मोसुल से 25 किमी दूर बादुश के जेल में बंद हैं। उन्होंने सभी भारतीय लोगों के इराक में जिंदा होने का दावा किया था। वहीं विपक्ष का आरोप है कि विदेश मंत्री ने लोगों को ये कह कर गुमराह किया है कि लापता भारतीय बादुश की जेल में हैं, लेकिन सचाई ये है कि आईएसआई ने ये जेल पहले ही तबाह कर दी थी। विदेश मंत्री ने ऐसा करके पीड़ित परिवारों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। जिस के खिलाफ वह जल्दी ही संसद में विशेष अधिकार प्रस्ताव पेश करेंगे।

इराक में लापता 39 लोगों में गुरुदासपुर का धरमिंदर भी शामिल है। धरमिंदर के परिवार वालों को कई बार विदेश मंत्रालय से दिलासा दिया गया, लेकिन अब इस परिवार का भरोसा दिलासों पर से उठता जा रहा है।

वीडियो: