भारत-पाक तनाव के बीच सुषमा ने जीता दिल

नई दिल्ली(4 अकटूबर): भारत और पाकिस्तान में तनाव के बीच भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के एक दोस्ताना कदम ने दोनों के लोगों का दिल जीत लिया है। सुषमा स्वराज के कदम की पाकिस्तानी यूथ डेलिगेशन ने खूब तारीफ की।

- बता दें कि 27 सितंबर को चंडीगढ़ में हुए ग्लोबल यूथ पीस फेस्टिवल में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तान से 19 सदस्यों का एक दल आया था। लेकिन भारतीय सेना के एलओसी के उस पार किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से उनकी वापसी तय तारीख 4 अक्टूबर पर होने में संशय होने लगा था।

- भारत में गर्ल्स फॉर पीस ग्रुप की पाकिस्तानी लड़कियों को तुरंत विशेष सुरक्षा मुहैया कराई गई थी, लेकिन लड़कियों के परिजन काफी चिंतित रहे और लड़कियों पर तुरंत वापस आने का दबाव बना रहा।

- 1 अक्टूबर को अलिया हरिर, अगाज ए दोस्ती पीस फोरम की संयोजक ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बात की। स्वराज ने उनकी सुरक्षित वापसी का भरोसा दिलाया।

- अलिया के इस ट्वीट के जवाब में सुषमा स्वराज ने ऐसा जवाब दिया कि लोगों के दिल खुश हो गए। उन्होंने कहा कि बेटियां सबकी सांझी होती है। किसी सीमा में बंधी नहीं होतीं।

- 2 अक्टूबर के अपने ट्वीट में हरिर ने बताया था कि ट्रॉय यूनिवर्सिटी के अंतरराष्ट्रीय संबंधों के छात्रों के एक दल ने कहा था कि भारतीय अपने मेहमानों को भगवान की तरह मानते हैं।