सुषमा स्वराज की तबीयत में तेजी से सुधार, ICU से वार्ड में हुईं शिफ्ट

नई दिल्ली (13 दिसंबर): दिल्ली के एम्स में भर्ती विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की तबीयत में तेजी से सुधार हो रहा है। सुषमा स्वराज को आज यहां एम्स के ICU से कार्डियो-न्यूरो सेंटर के एक निजी वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। तीन दिन पहले सुषमा स्वराज का किडनी ट्रांसप्लांट किया गया था। अस्पताल प्रशासन के मुताबिक सुषमा स्वराज को अगले 7 से 10 दिन में अस्पताल से छुट्टी दिए जाने की संभावना है।

एम्स निदेशक डॉ. एम सी मिश्रा ने कहा कि मंत्री को आईसीयू से कार्डियो-न्यूरो सेंटर के एक निजी वार्ड में स्थानांतरित कर दिया गया है। ऑपरेशन के बाद उनके स्वास्थ्य में सुधार अपेक्षा के अनुरूप ही हो रहा है। उन्होंने कहा कि उनके स्वास्थ्य में सुधार पर ट्रांसप्लांट सर्जन, फिजिशियन (इंडोक्राइनोलॉजिस्ट, नेफ्रोलॉजिस्ट, कार्डियोलॉजिस्ट और पल्मोनोलॉजिस्ट) और एनेस्थेसिस्ट के दल के अलावा गंभीर स्थिति देखभाल विशेषज्ञ, फिजियोथेरेपिस्ट और प्रतिरोपण विशेषज्ञ करीबी नजर रख रहे हैं।

सुषमा स्वराज का शनिवार को किडनी ट्रांसप्लांट किया गया था और एक जीवित असंबद्ध डोनर से लेकर उनके शरीर में किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी। मिश्रा के अनुसार जिस महिला ने मंत्री को अपनी किडनी दान में दी, उसे भी अस्पताल से छुट्टी दिए जाने की प्रक्रिया चल रही है।

एम्स के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने कहा कि प्रतिरोपण सर्जरी के दौरान जिस व्यक्ति के शरीर में अंग प्रतिरोपित किया जाता है उसे इम्यूनोसप्रेसेंट पर रखा जाता है, ताकि प्रतिरोपित अंग को अस्वीकार करने की शरीर की क्षमता को कम किया जा सके। चिकित्सक ने कहा कि यही कारण है कि मंत्री को प्रतिरोपण के बाद ICU में भेजा गया था और किसी भी तरह के संक्रमण से बचाने के लिए उन्हें अकेला रखा गया। एम्स ने इससे पहले कहा था कि स्वराज की सर्जरी सफल रही।