17 साल बाद बिहार के गांव आए सुशांत, मन्नत पूरी होने पर कराया मुंडन !

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 मई): बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत इन दिनों अपनी आने वाली फिल्मों के चलते खूब सुर्खियों में रह रहे हैं। साथ ही वो फिल्म के शेड्यूल से सुशांत को वक्त मिला वो ब‍िहार के खगड़िया जिले के बोरने गांव पहुंच गए। अपने गांव सुशांत के आने की वजह भी खास थी, क्यों‍कि एक्टर करीब 17 साल बाद यहां आए थे। ये सुशांत के पापा का गांव है।

 सुशांत स‍िंह राजपूत की कई तस्वीरें और वीड‍ियो सोशल मीड‍िया पर वायरल हो रहा हैं। सोशल मीडिया में बताया जा रहा है कि सुशांत की मां ने मन्नत मांगी थी कि बेटा ठीक रहेगा। अच्छा काम करेगा तो यहां माता के मंद‍िर में मुंडन करवाएंगी। 

हालांकि अब सुशांत की मां जीवित नहीं हैं। उनका निधन हो चुका है। इस बारे में सुशांत ने भी कहा, "मुझे मां से भी प्यार है और देवी मां से भी, इसल‍िए सब छोड़ककर मन्नत पूरी करने 17 साल बाद आया हूं। बिहार का हूं और बिहार के लिए कुछ करना चाहता हूं। इसके लिए प्रयास कर रहा हूं। सुशांत सिंह राजपूत ने लोगों से उनकी आने वाली फिल्म को जरूर देखने की गुजारिश भी की।" 

सुशांत सोमवार को मुंडन कराने खगड़िया जिले के बोरने स्थित भगवती मंदिर पहुंचे थे। सुशांत का पैतृक घर पूर्णिया जिले के बड़हरा कोठी के मल्डीहा गांव में है। 

सालों से सुशांत काम में व्यस्त रहने की वजह से अपने नन‍िहाल नहीं गए थे। अब ज‍ब एक्टर गांव पहुंचे तो उन्हें देखने वालों की भीड़ लग गई।  सुशांत सिंह राजपूत का स्वागत गांव में बाजे के साथ किया गया। 

गांव प्रसिद्ध मनसा देवी मंदिर पहुंचकर सबसे पहले उन्होंने दर्शन किया। फिर ननिहाल स्थित घर में जाकर कुल देवी का आशीर्वाद लिया। उसके बाद फिर मंदिर पहुंचकर समाजिक और हिंदू रीति रिवाज से उनका मुंडन किया गया।

हालांकि उन्होंने पूरे बाल कटवाने की जगह परंपरा को पूरा करने के लिए थोड़े बालों को ही कटवाया।