सर्वे में खुलासा, पिछले साल 45 प्रतिशत भारतीयों ने दी रिश्वत

नई दिल्ली ( 10 दिसंबर ): पिछले साल भारत में 45 फीसदी लोगों ने रिश्वत दी। यह जानकारी एक सर्वे में सामने आई है। 'ट्रांसपैरंसी इंटरनेशनल' ने यह सर्वे देश के 11 राज्यों में कराया। पिछले साल कराए सर्वे में 43 फीसदी लोगों के रिश्वत देने की बात सामने आई थी।

34,696 लोगों में से 37 फीसदी लोग मानते हैं कि एक साल में भ्रष्टाचार बढ़ गया है वहीं 14 फीसदी लोगों का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले भ्रष्टाचार घटा है। पश्चिम बंगाल और मध्य प्रदेश में 71 फीसदी लोगों का कहना था कि यहां भ्रष्टाचार बढ़ा है। महाराष्ट्र में केवल 18 प्रतिशत लोगों ने ही कहा कि उनके राज्य में भ्रष्टाचार बढ़ा है। 

दिल्ली में लोगों की मिलीजुली प्रतिक्रिया सामने आई। 33% लोगों ने कहा कि भ्रष्टाचार बढ़ा है वहीं 38 फीसदी लोगों ने कहा कि स्थिति जस की तस है। यहां 28 फीसदी लोगों का कहना है कि भ्रष्टाचार कम हुआ है। यूपी इस मामले में दूसरे नंबर पर है। उत्तर प्रदेश के 21 फीसदी लोगों ने कहा कि भ्रष्टाचार कम हुआ है। 

संस्था के मुताबिक 9% रिश्वत केंद्र सरकार के विभागों को दी गई जैसे, पीएफ, आयकर विभाग, सेवाकर विभाग, रेलवे आदि। 51 फीसदी लोगों का कहना है कि सरकार ने भ्रष्टाचार को घटाने की दिशा में कदम नहीं उठाए हैं। देश में 9 राज्य ऐसे हैं जिनमें लोकायुक्त नहीं हैं।