पाकिस्तान ऐसे बनाता है नापाक BAT, ऐसे करता है इनका इस्तेमाल

आसिफ सुहाफ, श्रीनगर (8 अक्टूबर): पाकिस्तान ने सर्जिकल स्ट्राइक के लिए बैट यानी बॉर्डर एक्शन टीम को चुना। आपको बताते हैं कि आख़िर बैट है क्या और इसे पाकिस्तान कब व किस तरह से इस्तेमाल करता है।

पाकिस्तानी की ही बॉर्डर एक्शन टीम थी जो धोखे से भारत के वीर जांबाज़ हेमराज का सिर काट ले गई थी और अब इसी ग्रुप ने एक बार फिर हिंदुस्तान को ज़ख्म देने की कोशिश की थी, लेकिन ये नाकाम हो गई। एलओसी से न्यूज़ 24 रिपोर्टर आसिफ़ सुहाफ़ ने एक-एक एक्सलूसिव जानकारी इकट्ठा की और देश को बताया कि आख़िर किस तरह पाकिस्तान की सर्जिकल स्ट्राइक नाकाम हो गई और इस नाकाम कोशिश को अंजाम देने वाली थी बॉर्डर एक्शन टीम।

पाक की नापाक BAT पाक की बॉर्डर एक्शन टीम पुंछ के केजी सेक्टर में भी सक्रिय है बांदीपुर, पुलवामा, बारामूला और अनंतनाग के सैन्य शिविर भी इनके निशाने पर हैं उरी, नौगाम, तंगधार और माछील सेक्टरों से भी ये घुसपैठ कर सकते हैं पाकिस्तान के इस बुजदिल ग्रुप के बारे में कहा जाता है कि इसमें कोई भी भर्ती हो सकता है इन्हें पाकिस्तानी सेना की तरफ से अलग-अलग तरीके से लुभाने की कोशिश की जाती है

पाकिस्तान अपनी बॉर्डर एक्शन टीम में ऐसे आतंकियों की भर्ती इसलिए करता है कि अगर वो पकड़े गए तो पाकिस्तान साफ़ मुकर सकता है, ये अपने रिस्क पर जाते हैं। बदले में इन्हें पाकिस्तान से कोई उम्मीद नहीं होती।

एक तरफ जहां पाकिस्तान भारत से बातचीत करने की बात करता है तो वहीं वो भारतीय जवानों के सिर काटकर लाने का इरादा रखता है और इसी मकसद से बनाई गई है बॉर्डर एक्शन टीम। सूत्रों की मानें तो बैट के आतंकियों को खासतौर से सिर काटने के लिए ट्रेन किया गया है। ऐसे में जानकार कहते हैं कि भले ही पाकिस्तान इस बार हुए हमले में नाकाम हो गया हो, लेकिन वो अपनी फितरत नहीं बदल सकता।

भारत ने पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक की और सिर्फ 4 घंटे के अंदर ही उसके 38 आतंकियों और 2 सैनिकों को ढेर कर दिया। ये पाकिस्तान को दिया गया ऐसा दर्द है जो न अभी कम हुआ है और न ही कम होने वाला है। ज़मीन पर ज़ख्मी पाकिस्तान पूरी दुनिया में भी अलग-थलग पड़ता जा रहा है। यानी अब भी अगर पाकिस्तान नहीं सुधरा तो इस अदने से मुल्क का वजूद ही ख़तरे में पड़ जाएगा।