कप्तानों का कप्तान है अपना 'माही', इस साथी खिलाड़ी ने किया दावा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (27 मई): धोनी का कायल हर कोई है। चाहे उनकी बल्लेबाजी हो या कीपिंग दोनों में वो अपने कारनामों से सबका दिल जीत लेते हैं। अब बिस्फोटक बल्लेबाज और चेन्नई सुपर किंग के उनके साथी खिलाड़ी सुरेश रैना ने उन्हें लेकर बयान दिया है। रैना का मानना है कि धोनी धोनी भले ही फिलहाल टीम के कप्तान ना हो लेकिन जो भी एक बार कप्तान बन जाता है वो हमेशा ही कप्तान रहता है। टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के तीन साल बाद 2017 में धोनी ने एकदिवसीय और टी20 अंतरराष्ट्रीय टीम की कप्तानी भी छोड़ दी थी लेकिन इसके बावजूद भारतीय टीम की रणनीति में धोनी की अहम भूमिका रहती है और इस बात को कप्तान विराट कोहली तक स्वीकार कर चुके हैं।अपने परिवार के साथ नीदरलैंड में छुट्टियां मना रहे रैना ने कहा, ‘कागजों पर वह कप्तान नहीं हैं लेकिन मुझे लगता है कि वह मैदान पर विराट के लिए कप्तान हैं। उनकी भूमिका अब भी वही है। वह विकेट के पीछे से गेंदबाजों के साथ संवाद करते हैं, फील्डर सजाने में भी जिम्मेदारी निभाते हैं।’ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में धोनी की अगुआई वाली चेन्नै टीम के अहम सदस्य रैना ने कहा, ‘वह कप्तानों के कप्तान हैं। जब धोनी विकेट के पीछे होते हैं तो विराट आश्वस्त महसूस करते हैं। उन्होंने हमेशा यह स्वीकार किया है।’ रैना ने हालांकि कहा कि यह कोहली के लिए बड़ा वर्ल्ड कप होगा। उन्होंने कहा, ‘वह आश्वस्त खिलाड़ी और कप्तान हैं। यह उनके लिए बहुत बड़ा वर्ल्ड कप है। वह अपनी भूमिका को अच्छी तरह जानते हैं। उन्हें अपने खिलाड़ियों को आत्मविश्वास देने की जरूरत है। सभी चीजें हमारे पक्ष में नजर आ रही हैं। इरादा सकारात्मक होना चाहिए। यह विश्व कप जीतने के लिए सर्वश्रेष्ठ टीम है।’

रैना ने साथ ही कहा कि हार्दिक पंड्या आगामी वर्ल्ड कप में भारत के लिए अहम खिलाड़ी होंगे। उन्होंने कहा, ‘वह अच्छी फील्डिंग और बल्लेबाजी कर सकते हैं और साथ ही 6-7 ओवर गेंदबाजी कर सकते हैं। अगर वह आईपीएल के आत्मविश्वास के साथ वर्ल्ड कप में उतरते हैं तो पासा पलट सकते हैं।’ धोनी की अगुआई में 2011 विश्व कप जीतने वाली टीम के सदस्य रैना ने कहा, ‘मुझे लगता है कि इस विश्व कप में वह भारत का सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी होगा। अगर हमने अंतिम-4 में जगह बनाई और उन्हें टूर्नमेंट के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार मिला तो मुझे हैरानी नहीं होगी।’

भारत को वर्ल्ड कप से पहले प्रैक्टिस मैच में न्यू जीलैंड के खिलाफ 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा और रैना का मानना है कि टीम को बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए सतर्क रहने की जरूरत है। रैना ने हालांकि कहा कि पहले अभ्यास मैच में हार बुरी नहीं है। उन्होंने कहा, ‘अब हम एकजुट हो सकते हैं और संयोजन ढूंढ सकते हैं। मुझे लगता है कि यह भारतीय टीम के लिए अच्छा है।’