सुरेश प्रभु का बड़ा कदम, 400 स्टेशन बनेंगे वर्ल्ड क्लास

नई दिल्ली (8 फरवरी): रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे की कायाकल्प करने का जो जिम्मा उठाया है, उसमें दुनिया के सबसे बडे स्टेशन रिडेवलेपमेंट कार्यक्रम के तहत भारतीय रेलवे के 400 स्टेशन वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनेंगे।

- दुनिया के सबसे बडे स्टेशन रिडेवलेपमेंट कार्यक्रम के तहत भारतीय रेलवे के 400 स्टेशन वर्ल्ड क्लास बनेंगे।

- प्राइवेट पार्टी के सहयोग से रेलवे में A1 और A कैटगरी के 400 रेलवे स्टेशन के रिडेवलेपमेंट की योजना।

- चरणबद्ध तरीके से 400 स्टेशन को यात्री सुविधाओं से लैस कर रीडेवलप किया जाएगा।

- पहले चरण में रेल मंत्री प्रभू 23 अहम रेलवे स्टेशन को रीडेवलेप करने को देंगे हरी झंडी।

- पहले चरण में चेन्नई सेंट्रल, रांची, उदयपुर सिटी, पुणे, इंदौर, बैंग्लोर, यशवंतपुर, विशाखापत्तनम, हावडा,  कामाख्या, जम्मू तवी, फरीदाबाद, सिकंदराबाद, कोझिकोड, विजयवाडा और भोपाल रेलवे स्टेशन शामिल हैं।

- सभी रेलवे स्टेशन का रीडेवलेपमेंट पीपीपी मॉडल पर किया जाएगा।

- नियमों के तहत रेलवे मंत्रालय अतिक्रमण रहित 140 एकड की जमीन प्राइवट पार्टी को 45 साल के लिए लीज़ यानि किराए पर दी जाएगी।

- स्टेशन रीडेवलेपमेंट में नीजि भागीदारों की सहूलियत के लिए हर रेलवे ज़ोन में एक नोडल आफर की नियुक्ती की जाएगी।

- रेलवे मंत्रालय ने स्टेशन रिडेवलेपमेंट प्रोग्राम के लिए Boston Consulting Group (BSG) को बतौर नीतिगत सलाकार नियुक्त किया।