सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली दाऊद की मां और बहन को राहत

नई दिल्ली (20 अप्रैल): दाऊद इब्राहिम की मां अमीन बी कासकर और बहन हसीना पारकर को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली। नागपाड़ा में दाऊद की सम्पत्तियों को जब्त करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला। सरकार ने हलफनामा दाखिल कर कहा था कि ये संपत्तियां दाऊद ने अपने आपराधिक गतिविधियों से कमाई है, जबकि दाउद की मां और बहन का कहना है ये संपत्तियां उनकी है।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अंडरव‌र्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना पारकर और उसकी मां अमीना बी कासकर की प्रापर्टी को फेरा उल्लंघन मामले में जब्त करने के आदेश पर रोक लगा दी थी। इन्होंने इस संबंध में कोर्ट द्वारा पूर्व में दिए संपत्ति जब्ती के आदेश को चुनौती दी थी, जिसके बाद उन्हें शीर्ष कोर्ट से कुछ समय के लिए राहत मिल गई थी।

हाईकोर्ट ने दाऊद की बहन और मां की इस अपील को खारिज कर दिया था, जिसके बाद इन्होंने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था। निचली अदालत के फैसले को चुनौती देने की इस याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कहा था कि वह इस पर नोटिस जारी करने का इख्तियार नहीं रखता है। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट से भी इन दोनों को राहत नहीं मिली।